रात में सिर्फ सोना ही नहीं, बल्कि सही तरीके से सोना भी है बहुत जरूरी

आपने अक्सर लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त नींद लेना आवश्यक है। आमतौर पर स्वस्थ रहने के लिए कम से कम सात से आठ घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए आपका सिर्फ पर्याप्त मात्रा में सोना ही काफी नहीं है, बल्कि आपकी स्लीपिंग पोजिशन भी आपके स्वास्थ्य पर व्यापक प्रभाव डालती है। अगर आप सही तरह से नहीं सोते तो इससे आपको काफी सारी परेशानी झेलनी पड सकती है। आईए जानते हैं इसके बारे में-

  • अगर आपको पेट के बल सोने की आदत है तो आप इसे आज ही बदल दीजिए। इस तरह सोने से पीठ दर्द, गर्दन में दर्द जैसी समस्याएं होने लगती हैं। पेट के बल सोने से  बिस्तर लगे बैक्टीरिया चेहरे पर लग जाते हैं,जिससे चेहरे पर दाग- धब्बे होने लगते हैं।
  • बाहें ऊपर करके सोने से कंधों पर अधिक दबाव पड़ता है, जिससे बाहों में दर्द रहने लगती है।
  • कई बार सीधा न सोने से रात को सांस लेने तकलीफ होने लगती है, जिससे  रीड की हड्डी में भी टेड़ापन भी आ सकता है।
  • अच्छी नींद लेने के लिए बाई तरफ करवट लेकर सोना अच्छा रहता है। इसके अलावा रात को करवट बदलते रहें।

सर्दी के मौसम में बचना है हार्ट अटैक से तो करें ये छोटा सा उपाय