देश में रेमडेसिविर दवा हुई सस्ती, सरकार ने कंपनियों से कहकर घटा दिए दाम

गंभीर कोरोना मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा रेमडेसिविर के दामों में भारी कमी की गई हैं। इस दवा को भारत में सात अलग-अलग कंपनियां बना रही हैं। ये कंपनियां इस महत्वपूर्ण दवा को 2800 से 5400 रुपये प्रति इंजेक्शन की एमआरपी पर बेच रहीं थीं, लेकिन अब ये कीमतें 899 से 3490 रुपये प्रति इंजेक्शन के बीच कर दी गई है। दरअसल, सरकार ने इस जरुरी दवा को आसानी से लोगों तक उपलब्ध कराने के लिए कंपनियों से अनुरोध किया था।

कंपनियों से सरकार का अनुरोध स्वीकार करते हुए स्वेच्छा से मूल्यों में कमी का ऐलान किया है। राष्ट्रीय औषध मूल्य प्राधिकरण (एनपीपीए) ने शनिवार को बयान जारी करते हुए कहा कि देश में रेमडेसिविर की उपलब्धता बढ़ाने और लोगों को इसे आसानी से उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने यह प्रयास किया हैं।

देश में अब कैडिला हेल्थकेयर का रेमडेसिविर इंजेक्शन रेमडेक सबसे सस्ता 899 रुपये, बायोकान बायोलाजिक्स इंडिया का इंजेक्शन 3950 से घटाकर 2450, डॉ. रेड्डी लैब के रेडेक्स की कीमत 5400 से घटाकर 2700, सिप्ला सिपरेमी की कीमत 4000 से घटकर 3000, माइलन फार्मास्युटिकल के डेसरेम की कीमत 4800 से 3400, जुबिलेंट जेनेरिक्स ने जुबी-आर की कीमत 4700 से 3400 तथा हेटेरो हेल्थकेयर कोविफार की कीमत 5400 से 3490 रुपये हैं।

यह भी पढ़े: फिर से चीन ने दिखाई हेकड़ी, कहा- ‘जो मिला हैं उसमें खुश रहना सीखें भारत’
यह भी पढ़े: दौड़ना शुरू कर रहे हैं तो इन बातों का रखें विशेष ध्यान