अब ब्लड की जगह पसीने के टेस्ट से पता चल जाएगा sugar level

वर्तमान लाइफस्टाइल में डायबिटीज़ की बामारी जिसे आम बोलचाल की भाषा में शुगर भी कहते हैं बहुत कॉमन हो चुकी है। भारत में तो इसके मरीज बहुत ही बड़ी संख्या में हैं। इस बीमारी का पता लगाने के लिए अपने खून की जांच करानी जरुरी होती है। लेकिन शायद अब ऐसा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दक्षिण कोरिया के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्होंने एक ऐसा सेंसर बना लिया है जिसकी मदद से उन्हें सिर्फ पसीने से ही शुगर का पता चल जाएगा। वहां की सोल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने इस कारनामे को अंजाम दिया है। इन वैज्ञानिकों का मुख्य मकसद था कि लोगों को ब्लड टेस्ट से होने वाली परेशानियों से किसी तरह निजात दिलाई जा सके।

  • यहां के वैज्ञानिकों के समूह ने शुगर की जांच के लिए तीन तरह के सेंसर का निर्माण किया हैं। ये अलग-अलग तरह के सभी सेंसर शरीर में शुगर लेवल का पता लगाने के लिए ही बनाए गए हैं। आमतौर पर शुगर के स्तर का पता लगाने के लिए ही खून की जांच की जाती है। लेकिन इन सेंसर्स से सिर्फ पसीने से ही शरीर के शुगर लेवल का पूरी तरह पता लगाया जा सकता है। इन तीन में से दो सेंसर पसीने में एसिडिटी और ह्यूमिडिटी की ठीक से जांच भी कर सकेंगे।
  • इस सेंसर को शरीर के उन हिस्सों पर लगाया जाता है जहां पर छिद्र वाली परतें होती हैं जो पसीने को ठीक से सोखती हैं। सेंसर जो भी जानकारी प्राप्त करता है वो सारी एक पोर्टेबल कंप्यूटर पर दिखने लगती हैं। इसे बनाने वाले वैज्ञानिकों के अनुसार इन जानकारियों से कोई भी बता सकता है कि जिसके पसीने की जांच की गई है उसे डायबिटीज़ है भी या नहीं। हालांकि अभी वैज्ञानिकों की चुनौतियां खत्म नहीं हुई हैं क्योंकि खून में जितना शुगर होता है उसके मुकाबले पसीने में बहुत ही कम होती है और ऐसे में शुगर का पता लगाना उतना आसान नहीं होता।