अब आप भी कर सकते हैं नेत्रदान

देश में इस समय लाखों लोग नेत्रदान के जरिए आंखों की रोशनी पाने का इंतजार कर रहे हैं लेकिन कई लोगों के मन में इससे जुड़े कई सवाल होते है कि क्या इस बीमारी के चलते हम नेत्रदान कर सकते हैं या नहीं। तो आज हम आपको बताएंगे कि कब और कैसे नेत्रदान किया

डायबिटीज़, अस्थमा और ब्लड प्रेशर के मरीजों को लगता है कि वो नेत्रदान नहीं कर सकते। लेकिन हम आपको बता दे कि आप जैसे लोग भी आसानी से नेत्रदान कर सकते हैं। इसके अलावा रेटिना की बीमारी या ऑप्टिक नर्व की समस्या से पीड़ित लोग भी अपना नेत्रदान कर सकते हैं। केवल उसी व्यक्ति की आंखों को नेत्रदान के तहत इस्तेमाल नहीं किया जा सकता, जिसकी मौत किसी अज्ञात कारण से हुई हो या फिर वह एड्स, हेपेटाइटिस या सेप्टिसिमिया के चलते मरा हो। हमारे देश में एक लाख 20 हज़ार लोग ऐसे हैं, जो कॉर्निया की बीमारी के चलते अपनी आंखों की रोशनी गंवा बैठे हैं। साथ ही 60 लाख 80 हजार लोग ऐसे हैं, जिनकी दृश्यता 6:6 से भी कम है।

यह भी पढ़ें:

नींद की गोली लेने से पहले जान लीजिए इन बातों को!

इन चीजों के सेवन से दूर हो जाती है खून की कमी!