ओडिशाः पूर्व मंत्री दुर्योधन मांझी का निधन

ओडिशा के पूर्व मंत्री तथा पांच बार नुआपाड़ा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक रहे दुर्योधन मांझी का सोमवार देर रात को उनके आवास पर निधन हो गया।
उन्होंने 84 वर्ष की उम्र में अंतिम सांस ली। वह अपने चार पुत्र और एक पुत्री के साथ रहते थे।
उनके पारिवारिक सूत्रों ने कहा है कि पूर्व विधायक का अंतिम संस्कार मंगलवार को उनके पैतृक गांव नुआपाड़ा में किया जाएगा।

वह ओडिशा विधानसभा चुनाव में वर्ष 1990 एवं 1995 में जनता दल के टिकट पर चुनाव जीते थे तथा वर्ष 2000 एवं 2004 में बीजू जनता दल और 2009 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव में जीत हासिल की थी।
इस दौरान वह 2000 से 2009 के बीच विभिन्न मंत्री पदों पर रहे थे।

लोकप्रिय आदिवासी नेता दुर्योधन मांझी सूचना एवं जनसंपर्क राज्य मंत्री, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री योजना और समन्वय मंत्री थे, साथ ही उन्होंने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भी संभाला था।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और पार्टी के अन्य नेताओं ने मांझी के दुखद निधन पर शोक व्यक्त किया।
श्री पटनायक ने ट्वीट करते हुए कहा कि उन्हें पूर्व मंत्री दुर्योधन मांझी के निधन के बारे में जानकर बहुत दुख हुआ।
उन्होंने ट्वीट किया, “ पूर्व मंत्री दुर्योधन मांझी के निधन से गहरा दुख हुआ है। अपने क्षेत्र और आदिवासी समुदाय के विकास में उनके योगदान का एक बड़ा हिस्सा उनका नेतृत्व है। ”

मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की।
केंद्रीय शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और ओडिशा के निर्माण, इस्पात एवं खान मंत्री प्रफुल्ल मल्लिक ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया।