पुराने साथी वापस आ गए है, सभी मतभेद भुलाकर आगे बढ़ेंगे: अशोक गहलोत

सचिन पायलट और उनके साथी अन्य बागी विधायकों के वापस जयपुर आने के बाद राजस्थान का सियासी संकट खत्म हो चुका है। ऐसे में अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि पुराने साथी वापस आ गए है तो हमें मतभेद भुलाकर आगे बढ़ना होगा और लोकतंत्र को बचाना होगा। गहलोत ने कहा कि विधायकों का परेशान होना स्वाभाविक है। जिस तरह से यह प्रकरण हुआ और वे महीने भर होटल में रहे, यह स्वाभाविक था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने सभी विधायकों को समझाया है कि हमें राष्ट्र, राज्य, लोगों की सेवा करनी है और लोकतंत्र को बचाना है तो कभी-कभी हमें सहनशील होने की आवश्यकता होती है। हम सभी मिलकर काम करेंगे और जो हमारे दोस्त वापस आ गए है। ऐसे में हमें पूरी उम्मीद है हम सभी मतभेदों को भुलाकर राज्य की सेवा करने के अपने संकल्प को पूरा करेंगे। प्रदेश के लोगों ने विश्वास से सरकार बनाई है और हमें उनका विश्वास बनाये रखना होगा।

उन्होंने कहा कि जो ऐपिसोड हुआ है एक प्रकार से भूलो और माफ करो की स्थिति में रहें, सब मिलकर चलें क्योंकि प्रदेशवासियों ने विश्वास करके हमारी सरकार बनाई थी। हमारी सबकी ज़िम्मेदारी उस विश्वास को बनाए रखने और प्रदेश की सेवा करने की बनती है। इससे पहले गहलोत खेमे के कांग्रेसी विधायकों ने बागियों को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। लेकिन गहलोत ने यह कहकर मामला शांत किया कि हमें लोकतंत्र व्यवस्था को बचाना है।

यह भी पढ़े: रूस की कोरोना वैक्सीन की वैश्विक स्तर पर बढ़ी मांग, 20 देश कर चुके हैं प्री-बुकिंग
यह भी पढ़े: पूर्व पाक स्पिनर दानिश कनेरिया ने भारत आकर ‘राम मंदिर’ देखने की जताई इच्छा