भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को मिली हरी झंडी, फिर शुरू होगा ट्रायल

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड के कोरोना वायरस वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल फिर से शुरू करने की अनुमति मिल गई है। भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने सीरम इंस्टीट्यूट को वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के लिए हरी झंडी दे दी है। बता दे भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ब्रिटेन की एस्ट्रेजेनिका के साथ मिलकर इस वैक्सीन का निर्माण कर रही है। डीसीजीआई ने सीरम इंस्टीट्यूट को यह अनुमति मंगलवार को दे दी है।

डीसीजीआई के डॉ.वीजी सोमानी ने मंगलवार को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड के कोविड टीके का उम्मीदवारों पर क्लीनिकल ट्रायल करने की अनुमति प्रदान कर दी है। गौरतलब है कि एस्ट्रेजेनिका की तरफ से ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के ट्रायल पर रोक लगा दी गई थी। जिसकी वजह थी ट्रायल के दौरान मरीजों में से एक को हुई बीमारी। ब्रिटेन के बाद भारत में भी इस वैक्सीन को तैयार कर रही सीरम ने ट्रायल को रोक दिया था।

डीसीजीआई ने दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण में जांच के दौरान अतिरिक्त ध्यान देने समेत अन्य कई शर्ते रखी हैं। एसआईआई से डीजीसीआई ने कहा है कि विपरित परिस्थतियों से निपटने में नियम के अनुसार तय इलाज की भी जानकारी जमा की जाए। बता दे भारत में दूसरे चरण के 26 अगस्त से शुरू हुए परीक्षण में 100 लोग शामिल थे। जिसमें पुणे के भारतीय विद्यापीठ मेडिकल कॉलेज के 34 लोगों को यह वैक्सीन दी गई, जिसमें कोई समस्या पैदा नहीं हुई।

यह भी पढ़े: पुदीना है बहुत फायदेमंद, करें नियमित सेवन
यह भी पढ़े: काला नमक का अवश्य करें सेवन, आंखों की रोशनी होगी तेज

Loading...