हृदयघात का खतरा बढाती है Pain Killer, ऐसे रखें खुद को सुरक्षित

हम अक्सर अपने घरों में और कई जगह ऐसा देखते हैं कि कई लोग थोड़े से दर्द में ही दर्द निवारक दवाओं का लगातार सेवन करते हैं। वे लोग इस बात से पूरी तरह अनजान रहते हैं कि यह दर्द निवारक दवाईयां हमारे स्वास्थ्य के लिए कितनी ज्यादा नुकसानदायक हैं। एक दर्द निवारक दवा लेने का मतलब हैं कि एक वीक में ही आपका हृदय कमजोर होना।

एक ताजा जानकारी से पता चला हैं कि अगर पेनकिलर का ज्यादा उपयोग करते हैं, तो हृदयघात का लगभग 50 प्रतिशत खतरा बढ़ जाता हैं और जो व्यक्ति इन दर्द निवारक दवाओं सेवन कम या बिल्कुल भी नहीं करता हैं, ऐसे व्यक्तियों में हृदयघात का खतरा एक बट्टा पाँच होता हैं।

तेज हो जाता हैं रक्तदाब

एक ताजा शोध में यह भी पता चला हैं कि इन दर्द निवारक दवाओं के उपयोग से ब्लड की बनावट में अंतर आने लगता हैं। ब्लड में क्लोट बनने शुरू हो जाते हैं। जिससे ब्लड में मौजूद थ्रॉम्बोसाइट की मात्रा प्रवाहित होने लगती हैं। जिससे हमारा हर्ट कमजोर होने लगता हैं, जिससे वह सही प्रकार से काम नहीं कर पाता हैं।

इससे दिल पर जोर पड़ता है और ठीक से काम नहीं कर पाता और हमारी रक्तवाहिनीयां में ऐंठन होने लगती हैं, जिससे हमारे शरीर का रक्तचाप बढ़ जाता है। शोध में यह भी पता चला हैं कि हमें इन दर्द निवारक दवाओं को खरीदने से इनसे होने वाले गलत फायदों के बारे में भी जानना चाहिए।