दर्द निवारक दवाई बनाई जा सकती है लू कोरल साँप के विष से

विषधर सांप के काटने से दुनिया भर में हजारों लोगों की मौत हो जाती है। आमतौर पर ऐसे सांप को लोग देखते ही मार देते हैं। लेकिन आस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं ने ऐसे विषैले सांपों को लेकर दिलचस्प खुलासा किया है। उनके मुताबिक दक्षिण-पूर्व एशिया में पाया जाने वाला खतरनाक ब्लू कोरल स्नेक के विष से दर्द निवारक दवाई बनाई जा सकती है।

ऐसे पेनकिलर का कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। यह सांप दो मीटर तक लंबा होता है। इसकी विष ग्रंथि 60 सेंटीमीटर की होती है। इस सांप को किलर ऑफ किलर्स के नाम से भी जाना जाता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ क्वींसलैंड के ब्रायन फ्राई ने बताया कि ब्लू कोरल का विष शरीर में मौजूद सोडियम चैनल को प्रभावित करता है। यह इंसानों के दर्द निवारण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वैज्ञानिकों ने ब्लू कोरल स्नेक के विष में छह असामान्य पेप्टाइड का भी पता लगाया है। इससे पीड़ित के सभी नर्व एक साथ सक्रिय हो जाते हैं।