पाक की इमरान सरकार को बड़ा झटका, FATF ने ग्रे लिस्ट से PAK को नहीं निकाला

फाइनैंशल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने शुक्रवार को पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया हैं। आतंकवादी फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग पर नजर रखने वाली दुनिया की सबसे बड़ी संस्था ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में बरक़रार रखा हैं। इमरान सरकार से एफएटीएफ ने आतंकवाद के खिलाफ और कदम उठाने को कहा है। लेकिन अभी तक इमरान सरकार 27 पॉइंट एक्शन प्लान को लागू करने में नाकामयाब रही हैं। पाक की इमरान सरकार के लिए यह एक बड़ा झटका हैं।

वैसे तो इमरान सरकार ने एफएटीएफ की आंखों में धूल झोंकने के लिए कई हथकंडे अपनाए थे और ग्रे लिस्ट से बाहर होने के लिए लॉबिंग फर्म कैपिटल हिल की सेवा भी ली थी। लेकिन एफएटीएफ के नए फैसले के बाद इमरान सरकार के लिए यह काफी निराशा वाली बात होगी।

पाकिस्तान की ओर से पोषित आतंकवाद से सबसे अधिक पीड़ित भारत हैं। भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में लगातार पाकिस्तान को आतंकवाद की पनाहगाह बताता आया हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने भी नामित आतंकवादियों सुरक्षित पनाहगाह बने रहने को लेकर पाक को जमकर फटकार लगाई थी।

आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई में नाकाम रहने की वजह से एफएटीएफ ने पाकिस्तान को जून 2018 में ग्रे लिस्ट में डाला था। इसके बाद से पाकिस्तान इस सूची से बाहर निकलने के लिए छटपटा रहा है। ग्रे लिस्ट से बाहर निकालने में नाकाम रहे इमरान खान के लिए यह कूटनीतिक विफलता हैं।

यह भी पढ़े: एमपी में ‘आइटम’ शब्द पर घमासान, इमरती देवी ने कमलनाथ की मां-बहन को कहा आइटम
यह भी पढ़े: IPL 2020: मंगेतर धनश्री ने दिया सरप्राइज, VIDEO में देखें कैसा रहा चहल का रिएक्शन