पंचामृत नहीं होने देगा आपको बीमार

जैसा की आप सभी जानते है की मंदिरों व घरों में पंचामृत का प्रसाद भी बनाया जाता है। क्योंकि पंचामृत का प्रसाद सबसे शुभ व कल्याणकारी माना जाता है। लेकिन क्या आपको यह पता है कि पंचामृत पीने से शरीर को भी बहुत लाभ मिलता है। पंचामृत दूध, दही, शहद, घी और तुलसी की पत्तियों से मिलकर तैयार होता है।

-इसमें तुलसी का एक पत्ता डालकर इसका नियमित सेवन करने से कैंसर, हार्ट अटैक, डायबिटिज, कब्ज और ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर रोगों से बचा जा सकता है।

-पंचामृत से जिस तरह हम भगवान को स्नान कराते हैं ऐसा ही खुद स्नान करने से शरीर की कांति भी बढ़ती है।

-पंचामृत का सेवन करने से शरीर पुष्ट और पूरी तरह रोगमुक्त रहता है।

पंचामृत बनाने के आपको चाहिए- 500 ग्राम दही, 100 ग्राम दूध, 1 चम्मच शहद, 1 चम्मच घी और 8 से 10 तुलसी के पत्ते। इस अनुपात में मिलाकर बनाया गया पंचामृत ही बहुत असरदार माना जाता है। चाहें तो मिठास के लिए 50 ग्राम शक्‍कर या चीनी इसमें डाल सकते हैं। इस प्रसाद में बादाम और केसर भी मिलाया जा सकता है।