पैरालंपिक पदक विजेता दीपा मलिक ‘टीबी मुक्त भारत’ अभियान की राष्ट्रीय दूत बनी

नयी दिल्ली (एजेंसी/वार्ता): पद्मश्री, खेल रत्न अर्जुन पुरस्कार विजेता, देश की पहली महिला पैरालंपिक पदक विजेता और भारतीय पैरालंपिक समिति की अध्यक्ष डॉ. दीपा मलिक ने टीबी मुक्त भारत अभियान की राष्ट्रीय दूत बनने और नि-क्षय मित्र बनकर अपना समर्थन देने का संकल्प लिया है।

डॉ मलिक शनिवार सुबह यहां भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मंडप में पहुंची और इस आशय का संकल्प लिया। उन्होंने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के टीबी मुक्त भारत अभियान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की और नि-क्षय मित्र बनकर अभियान को अपना समर्थन दिया।

इस अवसर पर डा. मलिक ने कहा, “मुझे टीबी मुक्त भारत जन आंदोलन में एक राष्ट्रीय दूत के रूप में शामिल होने की खुशी है और इसके बारे में और अधिक आवश्यक जागरूकता बढ़ाने के लिए टीमों के साथ काम करने की उम्मीद है। यह दुर्बल करने वाली बीमारी, जिसे आसानी से रोका जा सकता है।”

-एजेंसी/वार्ता

यह भी पढ़े: IBA यूथ मुक्केबाजी चैंपियनशिप: भारत की झोली में दो रजत और एक स्वर्ण पदक आया