डायबिटीज वाले मरीज अपनी डाइट में शामिल करें ये हर्बल-टी, मिलेंगे फायदे

डायबिटीज की समस्या काफी आम हो गई है। डायबिटीज एक ऐसी कंडीशन है जिसमें ब्लड में शुगर लेवल अधिक बढ़ जाता है। डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए डॉक्टर दवाइयों के अलावा लाइफस्टाइल में भी सुधार करने की सलाह देते हैं। साथ ही अपने खान-पान भी ध्यान रखने के लिए बोलते हैं। इसके अलावा कुछ हर्बल टी होते हैं जो डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होते हैं। उनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और अन्य पोषक तत्व ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद करते हैं। आइए जानते हैं डायबिटीज के मरीजों को कौन से हर्बल टी को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

ग्रीन-टी:
ग्रीन-टी लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन के लेवल को कम करता है और ब्लड प्रेशर के प्रभाव को भी कम करता है। कुछ ऐसे शोध हैं जिनमें यह पाया गया है कि रोजाना 6 कप ग्रीन-टी पीने से टाइप-2 डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है। ग्रीन-टी में आप आप चीनी के जगह लींबू के रस की कुछ बूंद मिला सकते हैं

एलोवेरा-टी:
एलोवेरा टी में बहुत से हर्बल गुण होते हैं जो कई स्वास्थ्य समस्याओं के खतरे को कम करते हैं। शोध से पता चला है कि एलोवेरा टाइप 2 डायबिटीज के लक्षणों से लड़ने में मददगार हो सकता है और उन लोगों में फास्टिंग प्लाज्मा ग्लूकोज के स्तर को कम कर सकता है जिनमें प्रीडायबिटीज के लक्षण दिखते हैं।

अश्वगंधा की चाय:
अश्वगंधा कार्बोहाइड्रेट अवशोषण को धीमा कर देता है और अग्न्याशय से इंसुलिन स्राव को बढ़ाता है। ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रण में रखने के लिए हर सुबह एक कप अश्वगंधा की चाय जरूर पिएं। पाउडर या टैबलेट के रूप में लेने के बजाय आप ताजे पत्तों से बनी अश्वगंधा की चाय पिएं।

मेथी की चाय:
मेथी की चाय एक आयुर्वेदिक दवाइ की तरह काम करता है। इसमें अधिक मात्रा में फाइबर होता है जो ब्लड शुगर को कम कर के पाचन को धीमा करता है। इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को भी बेहतर करता है।

यह भी पढे –

वजन कम करने के लिए डाइट में शामिल करें ये साग, होते हैं और भी कई फायदे