मूड के हिसाब से चलने वाले लोग,रहते हैं ज्यादा सुखी !

हम सब जानते हैं मूडी होने का क्‍या मतलब होता है। मूडी लोगों को अक्‍सर नेगेटिव तरीके से लिया जाता है पर मूडी होने के अपने भी फायदे हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि ऐसे लोग बदलाव को आसानी से अपना लेते हैं उसे बोझ की तरह अपने सिर पर नहीं लेते।

बदलाव को स्‍वीकार करना सबके बस की बात नहीं होती मगर यह बेहद जरूरी है। नौकरी पेशे वाले लोगों को अक्‍सर इसका सामना करना पड़ता है। कंपनी कोई पॉलिसी लाती है, नया बॉस आता है, नया सैलेरी स्‍ट्रक्‍चर बनता है या नया रोल मिलता है तो अक्‍सर लोग परेशान हो जाते हैं।

मूड के हिसाब से चलने वाले लोग इस मामले में कई बार बाकियों से सुखी रहते हैं। उनका व्‍यवहार चेन की तरह होता है। अगर एक मोर्चे पर खुशी मिली तो बाकी जगह भी वो चीजों को पॉजीटिव तरीके से लेंगे। मूडी लोगों को मिली एक शाबाशी उनके काम करने की क्षमता को कई गुना बढ़ा सकती है।

कि अगर इनाम और प्रोत्‍साहन के अलग अलग स्रोत एक दूसरे से जुड़े हों तो मूड बड़े काम की चीज हो सकता है। सीखने सिखाने, सामाजिक स्‍टेटस और यहां तक कि अपने पार्टनर से संबंध बनाने में इसका पॉजीटिव इफेक्‍ट पड़ सकता है।

इसके उलट खराब मूड कई बार हर चीज को खराब करता चलता है। कोई परेशानी उतनी बड़ी होती नहीं, मगर मूड बिगड़ा हो तो बहुत बड़ी बन जाती है। अध्‍ययन करने वाली टीम का कहना है कि इन नतीजों को डिप्रेशन के इलाज में इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

 

यह भी पढ़ें –

अगर आपको भी हैं ये लक्षण तो हो सकता है साइलेंट अटैक