पायलट कैंप के विधायक का दावा, गहलोत खेमे के 10 से 15 विधायक हमारे साथ

राजस्थान की राजनीति के संग्राम में हर दिन नया दिलचस्प मोड़ आ रहा है। एक तरफ गहलोत सरकार फ्लोर टेस्ट पर अड़ी है और उसे हाईकोर्ट से बीएसपी विधायकों के विलय के खिलाफ लगाई गई याचिका पर भी बड़ी राहत मिली है। लेकिन दूसरी तरफ उपमुख़्यमंत्री पद से बर्खास्त किये गए पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट के कैम्प ने दावा किया है कि गहलोत खेमे के 10 से 15 विधायक उनके संपर्क में हैं और फ्री होते ही उनके साथ सम्मिलित हो जाएंगे।

पायलट कैम्प के विधायक हेमाराम चौधरी का कहना है कि गहलोत खेमे के 10 से 15 विधायक हमारे संपर्क में है। जैसे ही गहलोत द्वारा उनपर से प्रतिबंध हटेगा तो वह हमारी तरफ आ जायेंगे। दूसरी तरफ कांग्रेस ने कहा है कि राजस्थान के राज्यपाल की भूमिका हैरान और स्तब्ध करने वाली है।

बता दे बीजेपी नियुक्त राज्यपालों की इसी तरह की भूमिका के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को पूरे देश में राज भवनों के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि 2014 के बाद से बीजेपी द्वारा नियुक्त सभी राजयपालों ने संवैधानिक प्रक्रियाओं का मजाक उड़ाया है। चिंदंबरम ने उम्मीद व्यक्त की कि राजस्थान में राज्यपाल शीघ्र ही विधान सभा का सत्र बुलाएंगे और संविधान का सम्मान करेंगे।

यह भी पढ़े: गोरखपुर में एक करोड़ रुपये की फिरौती के लिए पांचवीं में पढ़ने वाले छात्र की हत्या
यह भी पढ़े: सीपी जोशी ने वापस ली सुप्रीम कोर्ट से याचिका, हाई कोर्ट के आदेश को दी थी चुनौती