गाय के दूध से भी ज्यादा प्लांट बेस्ड मिल्क से मिलते हैं फायदे, जानिए इसके प्रकार

आज के समय में लोग अपनी फिटनेस को लेकर बेहद सजग रहते हैं। पहले के समय में लोगों के पास ऑप्शंस की काफी कमी हुआ करती थी पर अब की स्थिति अलग है। हर सामग्रियों की विभिन्न कैटगरी मार्केट में उपलब्ध होते हैं। यही हालात डेयरी में भी देखी जा सकती है। पहले जहां लोग बस गाय-भैंस के दूध पीने में यकीन रखते थें वहीं अब कई लोगों ने प्लांट बेस्ड दूध पीना शुरू कर दिया है। आइए आपको बताते हैं क्या होते हैं इस तरह के दूध-

बादाम का दूध- यह एक बहुत ही पॉपुलर प्लांट बेस्ड मिल्क है जिसे आसानी से मार्केट से खरीदा जा सकता है। विमेंसहेल्थ में छपी खबर के अनुसार बादाम के दूध में गाय के दूध के मुकाबले कम कैलरी होती है। इसके अलावा विटामिन ई के साथ ही और कई विटामिंस और मिनरल्स इस दूध में मौजूद होते हैं। यह दूध कुकिंग और बेकिंग दोनों में ही इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि, गाय के दूध की तुलना में यह ज्यादा पतला होता है और साथ ही यह कॉफी की कड़वाहट को भी कम नहीं कर पाता।

ओट मिल्क- अपनी क्रीमिनेस और फ्लेवर के लिए मशहूर इस दूध में बाकी प्लांट बेस्ड मिल्क्स से अधिक कैलरीज होती हैं। इसमें प्रोटीन की मात्रा भी ज्यादा होती है। इसके अलावा ज्यादा कार्ब काउंट की वजह से इसमें क्रीमिनेस भी ज्यादा होती है जिसके वजह से इस दूध में एक्स्ट्रा फाइबर्स भी मिलते हैं। यह दूध कॉफी में भी डाला जाता है। साथ ही कई रेस्टॉरेंट्स जहां कॉफी मिलती है वहां भी इस दूध का इस्तेमाल किया जाता है।

काजू का दूध- बादाम के दूध की तरह ही काजू का दूध भी कम कैलरीज और कम फैट वाला होता है। यह दूध विटामिन ए, विटामिन ई और पॉली अनसैच्यूरेटेड फैट कै अच्छा स्रोत माना गया है। इसके नटी ( खुरदुरे) और क्रीमी टेक्सचर के वजह से इसे कई तरह की स्मूदीज में मिलाया जाता है। इसके अलावा इसे खाना बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है।

राईस मिल्क- राईस मिल्क उन लोगों के लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है जिन्हें नट्स और सोया से एलर्जी हो। प्राकृतिक तौर पर मिठास से भरे इस दूध का स्वाद बाकी प्लांट बेस्ड मिल्क्स से राफी अलग होता है। हालांकि इसका इस्तेमाल बहुत कम लोग ही करते हैं। अगर आपको इस दूध का स्वाद पसंद हो या फिर आपको ड्रायफ्रूट्स से एलर्जी हो तो आप इस दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सोया दूध- प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स का भंडार सोया दूध, गाय के दूध के बाद इस्तेमाल होने वाला सबसे प्रचलित दूध है। हालांकि इसमें कैल्शियम प्राकृतिक रूप से नहीं पाया जाता। खाना बनाने या बेकिंग के लिए अगर आप किसी प्रकार का ऑल्टरनेटिव ढूंढ रहे हैं तो सोया का दूध सबसे बेहतर है।

नारियल का दूध- नारियल के दूध में मौजूद सैच्यूरेटेड फैट उसे काफी क्रीमी और थिक बनाता है। कुकिंग और बेकिंग में अधिक इस्तेमाल होने वाले इस दूध को लोग रिफ्रेशिंग ड्रिंक के तौर पर पीना भी पसंद करते हैं। हालांकि इसका उपयोग कॉफी में न के बराबर ही होता है।

यह भी पढ़े-

 

हाई यूरिक एसिड के मरीज भूल कर भी न खाएं मूंगफली, जानिये कौन-सी चीजें खाने से होती है मनाही