प्लास्टिक स्ट्रॉ आपको बना रहा है बूढ़ा और दे रहा कैंसर जैसी बीमारी

आमतौर पर आजकल लोग कंफर्ट और हाइजीन को लेकर काफी सजग हो गए हैं. ऐसे में कई बार लोग गिलास में जूस, शरबत या नारियल पानी या कोई सी भी ड्रिंक को मुंह लगाकर नहीं पीते हैं बल्कि उसको पीने के लिए स्ट्रॉ का इस्तेमाल करते हैं. वहीं कुछ लोगों का मानना है कि ऐसा करने से आपकी ड्रेस पर ड्रिंक नहीं गिरती है और दांतों पर इन ड्रिंक्स में मौजूद शुगर नहीं लगती. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि अगर आप स्ट्रॉ का रेग्युलर इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके स्वास्थ के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है. प्लास्टिक के स्ट्रॉ का इस्तेमाल दांतों को नुकसान पहुंचाता है. इसे मुंह में लेने पर यह दांतों के इनेमल के लिए नुकसानदायक होता है.

प्लास्टिक स्ट्रॉ का इस्तेमाल होता है हानिकारक

  • ड्रिंक पीने के लिए यदि आप स्ट्रॉ का इस्तेमाल करते हैं तो इससे इम्युनिटी पावर कमजोर होती है.
  • स्ट्रॉ का इस्तेमाल पाचन तंत्र को कमजोर बनाता है और इससे अपच, उल्टी की संभावना बढ़ जाती है.
  • स्ट्रॉ का उपयोग करने से फेफड़े और लिवर को भी नुकसान पहुंचाता है.
  • स्ट्रा को बनाने में जो केमिकल इस्तेमाल होता है वो बेहद घटिया क्वालिटी का होता है. इसकी वजह से बॉडी में एस्ट्रोजन हर्मोन के निर्माण की प्रकिया भी प्रभावित होती है.
  • कई स्ट्रॉ में तो पॉलीप्रोपाइलीन और बिसफिनॉल ए भी पाया जाता है जो हमारे शरीर में मोटापे और कैंसर के रिस्क को पैदा करता है.
  • जब आप स्ट्रा से कुछ पीते हैं तो आपको होठों की सिकोड़ना पड़ता है . जब आप बार-बार ऐसा करते हैं तो तो इससे आपके चेहरे की मांसपेशियां भी संकुचित होती हैं और चेहरे पर झुर्रियां आती ही हैं.