Google Maps में जुड़ा एक नया फीचर, अब एक कोड से पता चल सकेगी आपकी लोकेशन

गूगल (Google) ने अपने Google Maps के लिए एक नया अपडेट जारी किया है। कंपनी ने इसके लोकेशन शेयरिंग फीचर को अपडेट किया है। इसके जरिये अब यूजर्स अपनी लोकेशन को प्लस कोड्स (Plus Code) के सहारे भेज सकेंगे। फिलहाल गूगल ने ये फीचर केवल एंड्रॉइड यूजर्स के लिए रोल आउट किया है। गूगल मैप्स में प्लस कोड का ऑप्शन अगस्त 2015 से ही दिया जा रहा है। मगर, न्यू अपडेट के चलते अब यूजर्स प्लस कोड्स को एक्सपेंड करके इसका उपयोग एकदम सही लोकेशन पर पहुंचने के लिए कर सकेंगे।

प्लस कोड नेविगेट करने वाले यूज़र के लिए एक डिजिटल अड्रेस होता है। यह लॉन्गिट्यूड और लैटिट्यूड को-ओर्डिनेशन के सहारे क्रिएट होता है। जीपीएस द्वारा इन लोकेशन पॉइंट (लॉन्गिट्यूड और लैटिट्यूड) को जेनरेट किया जाता है। बता दें कि डिजिटल अड्रेस में प्लस कोड जेनरेशन टेक्नोलॉजी को जारी किया गया है।

भेजी गई लोकेशन में प्लस कोड को देखने के लिए यूजर्स को मैप में ब्लू डॉट को दबाना होगा। यदि यूजर गूगल सर्च विंडो में भी यह कोड एंटर करेंगे तो सामने वाले को आपकी लोकेशन मिल जाएगी। इस कोड को किसी के साथ शेयर किया जा सकेगा। गूगल ने मैप्स में इस प्लस कोड फीचर के अलावा कई अन्य फीचर्स भी शामिल किए हैं। इनमें आसपास की जगहों को देखकर पार्किंग को सेव करना शामिल है।

यह भी पढ़ें : भारत में लॉन्च हुआ Samsung Galaxy M31 8GB रैम वेरिएंट, जानें क्या है कीमत?