PM Modi ने दी जनसंघ संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि, उनके अद्वितीय प्रयासों को किया याद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जनसंघ संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है. आपको बता दें कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 का मुखर होकर विरोध किया था. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश की एकता को और अधिक मजबूत करने की दिशा में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के ‘‘अद्वितीय प्रयासों’’ के लिए प्रत्येक भारतीय उनका ऋणी है.

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि
प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि ‘डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनकी पुण्यतिथि पर याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. भारत की एकता को और अधिक मजबूत करने तथा आगे बढ़ाने की दिशा में उनके अद्वितीय प्रयासों के लिए प्रत्येक भारतीय उनका ऋणी है. उन्होंने भारत की प्रगति के लिए कड़ी मेहनत की और एक मजबूत तथा समृद्ध राष्ट्र का सपना देखा. हम उनके सपनों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’

अनुच्छेद 370 के कट्टर विरोधी थे मुखर्जी
जनसंघ संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आज पुण्यतिथि है. मुखर्जी जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के कट्टर विरोधी थे. इसके साथ ही वह कश्मीर में प्रवेश करने के लिए लगने वाले परमिट का भी विरोध करते थे. इसी आवश्यक परमिट व्यवस्था के विरोध के लिए उन्हें बिना परमिट के जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने पर गिरफ्तार कर लिया गया था. नजरबंदी किये जाने के दौरान 1953 में कश्मीर में मुखर्जी की मृत्यु हो गई थी.

भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने खत्म किया अनुच्छेद 370
गौरतलब है कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी को अपना आदर्श मानने वाली भारतीय जनता पार्टी वाली केंद्र सरकार ने मुखर्जी का सपना साकार करते हुए पांच अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 को निरस्त कर जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त कर दिया था. अनुच्छेद 370 को खत्म करने के साथ ही सरकार ने तत्कालीन राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया था.

यह भी पढ़ें:

अमेरिका ने नाटो के 12 सदस्य देशों को युद्ध सामग्री की बिक्री को मंजूरी दी