PM नरेंद्र मोदी की अपील के बाद राहुल गांधी और महबूबा मुफ्ती ने भी बदली डीपी लेकिन…

स्वतंत्रता दिवस से पहले पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi appeal) की अपील का असर सोशल मीडिया पर दिखाई दे रहा है. बहुत बड़ी संख्या में भारतवासियों ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल तस्वीरों की जगह तिरंगा लगा दिया है. कई विपक्षी दलों के नेताओं ने भी पीएम मोदी की इस अपील का स्वागत किया है. अब कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी औ जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल तस्वीरों को बदल लिया है. दोनों ही विपक्षी दलों के नेताओं की तस्वीरों में तिरंगा तो नजर आ रहा है लेकिन इन दोनों ही नेताओं ने अपनी तस्वीर बदल कर सरकार की नीतियों के विरोध में अपना रुख भी साफ कर दिया है.

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने प्रोफाइल तस्वीर में अपनी फोटो की जगह ट्विटर पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की फोटो लगाई है. इस फोटो में पंडित नेहरू की हाथ में तिरंगा नजर आ रहा है. राहुल गांधी ने इस तस्वीर के साथ लिखा है, “देश की शान है, हमारा तिरंगा. हर हिंदुस्तानी के दिल में है, हमारा तिरंगा.”

कांग्रेस पार्टी ने भी अपने ट्विटर हैंडल की प्रोफाइल तस्वीर में यही फोटो लगाई है. इसके साथ ही कांग्रेस की तरफ से लिखा गया है, “तिरंगा हमारे दिल में है, लहू बनकर हमारी रगों में है. 31 दिसंबर, 1929 को पंडित नेहरू ने रावी नदी के तट पर तिरंगा फहराते हुए कहा था, ‘अब तिरंगा फहरा दिया है, ये झुकना नहीं चाहिए’. आइए हम सब देश की अखंड एकता का संदेश देने वाले इस तिरंगे को अपनी पहचान बनाएं. जय हिंद.

इसी तरह जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल तस्वीर चेंज की है. उन्होंने ट्विटर पर अपने पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद और पीएम मोदी की एक पुरानी तस्वीर को प्रोफाइल फोटो की जगह लगाया है. इस तस्वीर में तिरंगा तो नजर आ रहा है, साथ में जम्मू-कश्मीर का पूर्व झंडा भी नजर आ रहा है. जो 5 अगस्त 2019 को खत्म कर दिया गया था. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर में कई और बड़े बदलाव भी किए गए थे.

महबूबा मुफ्ती ने इस तस्वीर के साथ ट्विटर पर लिखा है, ” मैंने डीपी बदल लिया है क्योंकि एक झंडा खुशी और गर्व की बात है. हमारे लिए हमारे राज्य का झंडा अपरिवर्तनीय रूप से भारतीय ध्वज से जुड़ा था. यह हमसे छीन लिया गया और इस तरह से इस लिंक को तोड़ दिया गया. हो सकता है कि आपने हमसे हमारा झंडा छीन लिया हो, लेकिन इसे आप हमारे सामूहिक विवेक से मिटा नहीं सकते.”

यह भी पढ़ें:

CNG-PNG की कीमतों में इजाफा, लखनऊ में सीएनजी का दाम डीजल से हुआ अधिक; चेक करें लेटेस्ट रेट्स