आईपीएस आदित्य की अग्रिम जमानत अर्जी पर पुलिस ने अदालत में पेश की केस डायरी

पटना (एजेंसी/वार्ता): बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के नाम पर फर्जी कॉल कर पैरवी करने के मामले में अभियुक्त बनाए गए भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी आदित्य कुमार की अग्रिम जमानत याचिका की सुनवाई के लिए पुलिस ने आज अदालत में मामले की केस डायरी पेश कर दी ।


अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (21) राजवीर सिंह की अदालत ने पिछली तिथि पर आईपीएस आदित्य कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान पुलिस को मामले में इकट्ठा किए गए ब्यौरावार सबूतों की केस डायरी को पेश करने का आदेश दिया था। उसी आदेश के पालन में पटना पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई ने मामले की केस डायरी को न्यायालय में पेश किया। अदालत ने जमानत याचिका और पुलिस द्वारा पेश किए गए सबूतों पर सुनवाई के लिए 02 दिसंबर 2022 की अगली तिथि निश्चित की है


गौरतलब है कि गया जिले के तत्कालीन वरीय पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) आदित्य कुमार के खिलाफ दर्ज मुकदमे और विभागीय कार्रवाई को रफा-दफा करने के लिए पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश बनकर मामले के एक अन्य अभियुक्त द्वारा डीजीपी बिहार को फर्जी कॉल किए जाने को लेकर आर्थिक अपराध इकाई ने मुकदमा संख्या 33/2022 भारतीय दंड विधान की धारा 353, 387, 419, 420, 467, 468, 120(बी) और 66 आईटी एक्ट के तहत दर्ज किया है।


इस मामले में फर्जी कॉल करने वाले अभिषेक अग्रवाल समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। मामले में अभियुक्त बनाए गए आदित्य के खिलाफ निचली अदालत ने 04 नवंबर 2022 को गिरफ्तारी का गैर जमानतीय वारंट जारी किया था।

एजेंसी/वार्ता

यह भी पढ़ें:-त्वचा को भरपूर नमी प्रदान करने में सहायक है मिनरल ऑयल, जानिए इसके अन्य फायदे