बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक उठापटक, पूर्व मंत्री श्याम रजक लौटे अपने पुराने पार्टी मे

विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही बिहार की राजनीति अपने चरम पर है। विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक उठापटक शुरू हो गया है। नेताओं का दल बदलने का रिवाज एक बार फिर से चरम पर है। जदयू से निष्काषित नेता और बिहार सरकार में मंत्री रहे श्याम रजक अपने पुराने पार्टी राजद में फिर से वापस आ गए। पटना में प्रेस कांफ्रेस के बीच तेजस्वी यादव ने उन्हें पार्टी में शामिल किया।

आपको बता दें कि इससे पहले अपनी पुरानी पार्टी राजद में शामिल होने जा रहे श्याम रजक ने कहा कि जदयू में नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं को उनका सम्मान नहीं मिल पा रहा है। लगभग 99 प्रतिशत बिहार की जनता सीएम नीतीश कुमार से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि मैं दूसरों के बारे में नहीं जानता, लेकिन मैं राष्ट्रीय जनता दल में शामिल हो रहा हूं। उन्होंने कहा कि मैं वहां नहीं रह सकता जहां सामाजिक न्याय छीना जा रहा है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मुझे निष्कासित नहीं किया गया है, बल्कि खुद मैं पार्टी अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपने जा रहा हूँ।

उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक उठापटक और दल बदल का खेल शुरू हो गया है। एक ओर जहां राजद से निष्काषित तीन विधायक जदयू का दामन थामने जा रहे हैं। वहीं कभी राजद में कद्दावर नेता रहे और वर्तमान में जदयू सरकार में मंत्री रहे श्याम रजक फिर से अपनी पुरानी पार्टी मे वापस आ गए है।

आपको बता दें कि श्याम रजक के पाला बदलने की खबर पर जहां जदयू मे पहले मन-मनौवल का खेल चला लेकिन मंत्री के राजी नहीं होने की स्थिति मे उनको मंत्री पद से हटाकर पार्टी से निष्कासित करने की घोषणा कर दी गयी।