Breaking News
Home / खेल / कप्तानी छोड़ने के फैसले पर 9 साल बाद खुलकर बोले पोंटिंग, कहा-हुई थी तकलीफ

कप्तानी छोड़ने के फैसले पर 9 साल बाद खुलकर बोले पोंटिंग, कहा-हुई थी तकलीफ

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी और कप्तान रिकी पोंटिंग ने करियर के दौरान अपने कप्तानी छोड़ने के फैसले पर लंबे समय बाद प्रतिक्रिया दी है। अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया को लगातार दो बार विश्व कप खिताब दिलाने वाले पोंटिंग ने कहा कि, उन्होंने अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया टीम को शिखर तक पहुंचाया लेकिन हार मान लेना काफी तकलीफ देता है। पोंटिंग ने कहा कि उन्होंने अपने करियर के दौरान कप्तानी छोड़ने का फैसला खुद से किया था।

बता दे 2011 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम क्वॉर्टर फाइनल में भारतीय टीम से पराजित हो गई थी। जिसके बाद पोंटिंग ने कप्तानी छोड़ने का निर्णय किया था। करीब 9 साल बाद उन्होंने अपने इस फैसले पर बात की। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी छोड़ी वह सही समय था। कप्तानी छोड़ने के बाद वह टीम में इसलिए बने रहे क्योंकि उस वक्त टीम में कई नए बल्लेबाज आये थे और उनका मानना था कि उनकी मौजूदगी से काफी मदद मिलेगी।

Loading...

पोंटिंग ने कहा कि हार मान लेना तकलीफ देता है लेकिन उस वक्त उन्हें कप्तानी छोड़ने का फैसला सही लगा। वह आने वाले बड़े टूर्नामेंट्स से पहले नए कप्तान माइकल क्लार्क को समय देना चाहते थे। उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप के क्वॉर्टर फाइनल मैच में सेंचुरी बनाने के बावजूद लोग उनके इस फैसले से हैरान थे कि वह बतौर खिलाड़ी टीम से जुड़े रहेंगे। पोंटिंग का कहना था कि वह कप्तानी छोड़ने के बाद सिर्फ ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट की बेहतरी के लिए जुड़े रहे।

यह भी पढ़े: CM गहलोत की सख्ती का असर, प्रदेश की सड़कों पर नहीं दिख रहे निजी वाहन
यह भी पढ़े: कोरोना वायरस की अनदेखी करने वालों पर नाराज हुई लता मंगेशकर, ट्वीट कर निकाला गुस्सा

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *