Breaking News
Home / देश / राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा संसाधनों की खपत में वृद्धि की संभावनाओं के मद्देनजर अनुसंधान एवं प्रौद्योगिकी नवाचार जरूरी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा संसाधनों की खपत में वृद्धि की संभावनाओं के मद्देनजर अनुसंधान एवं प्रौद्योगिकी नवाचार जरूरी

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यह कहा कि वैश्विक मानकों पर भारत में प्रति व्यक्ति संसाधनों और वस्तुओं की खपत अभी बहुत कम है और आने वाले समय में इसमें वृद्धि की संभावना को देखते हुए उच्च गुणवत्ता की अनुसंधान पहल और खनन क्षेत्र में प्रौद्योगिकीय नवाचार में सार्थक निवेश की आवश्यकता है।

loading...

राष्ट्रपति ने राष्ट्रीय भू-विज्ञान पुरस्कार प्रदान किया। इस अवसर पर उन्होंने यह कहा कि भारत विश्व में बहुत ही तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। आगामी दशकों में हमारा सकल घरेलू उत्पाद (GDP) और वृहद विकास की प्रक्रियाएं बढ़ेंगी।

कोविंद ने यह कहा कि अर्थव्यवस्था में इस बढोतरी के परिणामस्वरूप खनन और खनिज क्षेत्र का विकास होगा। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे अधिक शहरों और आवासों तथा व्यवसायिक केंद्रों का निर्माण एवं आधुनिक बुनियादी ढांचा तैयार होंगे, वैसे-वैसे महत्वपूर्ण संसाधनों का उपयोग बढ़ेगा।

राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘जैसा कि सब जानते हैं वैश्विक मानकों पर भारत में प्रति व्यक्ति संसाधनों और वस्तुओं की खपत अभी भी बहुत कम है और इसके बढ़ने की संभावना है। इसके लिये स्‍थायी, पारिस्थिकीय अनुकूल संसाधन पैदा करने के लिए उच्च गुणवत्ता की अनुसंधान पहल और खनन क्षेत्र में प्रौद्योगिकीय नवाचार में सार्थक निवेश की आवश्यकता होगी।’’

उन्होंने कहा कि इसलिये सरकार ने पिछले चार वर्षों में खनन क्षेत्र में सुधारों को बढ़ावा दिया है । मौजूदा कानूनों में संशोधन और रायल्टी के लिए अधिक न्यायसंगत प्रणाली विकसित करने सहित इन सुधारों के परिणाम नजर आने लगे हैं ।

खनन एवं भूविज्ञान के क्षेत्र में भारत और मोरक्को के बीच एमओयू

Loading...
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *