स्वतंत्रता दिवस पर लगातार सातवीं बार देश को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत इस 15 अगस्त को अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। यह लगातार सातवां अवसर होगा जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश को संबोधित करेंगे। इस बार उनका संबोधन कोरोना वायरस महामारी, चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध और आत्मनिर्भर भारत के तहत सरकार द्वारा उठाए गए कई कदमों पर आधारित होगा। इस बात का बेसब्री से इंतजार रहेगा कि हर बार की तरह मोदी इस बार क्या बड़ी घोषणाएं करते है।

पिछले साल प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के भाषण में तीन तलाक के खिलाफ कानून लाने और जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को समाप्त करने की बात को प्रखर किया था। साथ ही जनसंख्या को नियंत्रित करने और पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने की जरूरत पर बल दिया था।

अब देखना दिलचस्प होगा कि कोरोना संकट से जूझ रहे देश के लिए प्रधनमंत्री मोदी 74वें स्वतंत्रता दिवस पर किन बातों का जिक्र करते है। बता दे मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह दूसरा वर्ष है, इस बार केंद्र सरकार ने कोरोना से बिफरी अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए व्यापक प्रयास शुरू किये है।

इस स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन राम मंदिर के ‘भूमि पूजन’, पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच जारी तनाव के बीच होने जा रहा है। इस मौके पर संभव है कि मोदी देश की अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कई बड़ी योजनाओं की घोषणाएं भी कर सकरते है।

यह भी पढ़े: वैक्सीन ‘स्पूतनिक वी’ को लेकर रूस का दावा, दो साल तक नहीं छुएगा कोरोना
यह भी पढ़े: राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक यहां बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है