पांच नागरिकों की हत्या का विरोध, फायरिंग के विरोध में असम पुलिस को काले झंडे दिखाए

शिलाँग (एजेंसी/वार्ता): मेघालय में असम पुलिस द्वारा पश्चिम जयंतिया हिल्स जिले के मुक्रोह गांव में पांच नागरिकों की हत्या के विरोध में बुधवार को काले झंडे फहराए गए। खासी छात्र संघ ने राज्य की राजधानी और खासी-जयंतिया पहाड़ी क्षेत्र के अन्य हिस्सों में भी काले झंडे फहराए। कार्यकर्ताओं की शिलॉन्ग के मोटफ्रान में झंडा फहराते हुए पुलिस से कुछ कहासुनी भी हुई।

राज्य की राजधानी में तनावपूर्ण शांति व्याप्त है और काले झंडे फहराए जाने के बाद बड़ा बाजार क्षेत्र की अधिकांश दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे।पश्चिमी गारो हिल्स के जिला मुख्यालय तुरा में गारो छात्र संघ और अन्य समूहों ने भी काले झंडे फहराए।

इस बीच पुलिस गोलीबारी के विरोध में गैर सरकारी संगठनों एफकेजेजीपी, एडीई, एवाईडब्ल्यू और एफएएफ ने 25 नवंबर को दोपहर एक बजे से तीन बजे तक पूरे गारो हिल्स क्षेत्र में दो घंटे के असहयोग आंदोलन का आह्वान किया है।

गारो हिल्स क्षेत्र के एफकेजेजीपी अध्यक्ष प्रीतम मारक ने कहा, “हम सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों से अपनी दुकानें बंद करने की अपील करते हैं। हम सभी जनता से अपील करते हैं कि उस समय सड़कों पर न चलें। सभी कार्यालय कर्मचारियों से भी अपील करते हैं कि वे इन घंटों में पेन डाउन हड़ताल करें। उन्होंने कहा कि आपातकालीन सेवाओं , एम्बुलेंस , दवाईयां , छात्रों और स्कूलों को बंद से अलग रखा गया है।

-एजेंसी/वार्ता

यह भी पढ़े: भारत जोड़ो यात्रा: मध्यप्रदेश के खंडवा से शुरू हुई राहुल की यात्रा, प्रियंका भी पहुंची