कनाडा में पंजाबियों का दबदबा, ओंटारियो में चुनाव लड़ रहे 20 NRI कैंडिडेट

कनाडा में ओंटारियो प्रांतीय चुनावों के लिए पंजाब मूल के 20 उम्मीदवार मैदान में हैं। यहां सभी 123 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 2 जून को मतदान होना है। तीन प्रमुख राजनीतिक संगठन (लिबरल, नेशनल डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) और प्रोग्रेसिव कंजरवेटिव पार्टी (पीसी)) दक्षिण एशियाई और विशेष रूप से पंजाबियों पर भारी दांव खेल रहे हैं।

उन्होंने “पर्याप्त प्रतिनिधित्व” भी दिया है फाइनल लिस्ट में लिबरल पार्टी और प्रोग्रेसिव कंजरवेटिव पार्टी ने छह-छह पंजाबी, न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी ने पांच, ग्रीन ने दो और एक निर्दलीय उम्मीदवार मैंदान में उतरे हैं। अधिकांश पंजाबी प्रवासी बहुल टोरंटो के ब्रैम्पटन और मिसिसॉगा उपनगरों के 11 निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ रहे हैं।

प्रोग्रेसिव कंजरवेटिव पार्टी ने ब्रैम्पटन ईस्ट से हरदीप ग्रेवाल, ब्रैम्पटन वेस्ट से अमनजोत संधू और मिसिसॉगा माल्टन से दीपक आनंद को मैदान में उतारा है। उदारवादियों ने ब्रैम्पटन ईस्ट से जन्नत ग्रेवाल, ब्रैम्पटन नॉर्थ से हरिंदर मल्ही, ब्रैम्पटन वेस्ट से रिम्मी झज्ज, मिसिसॉगा माल्टन से अमन गिल, ब्रैंटफोर्ड ब्रेंट से रूबी तूर और एसेक्स से मनप्रीत बरार को मैदान में उतारा है।

एनडीपी ने सारा सिंह को ब्रैम्पटन सेंटर से संदीप सिंह, ब्रैम्पटन नॉर्थ से नवजोत कौर, जसलीन कंबोज को थॉर्नहिल से मैदान में उतारा है। ग्रीन पार्टी ने अनीप ढडे को ब्रैम्पटन नॉर्थ से और मिनी बत्रा को डरहम से, जबकि मनजोत सेखों ने ओंटारियो पार्टी से चुनाव लड़ा है। 2018 में जीत हासिल करने वाले सात पंजाबी फिर से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

उनमें से प्रमुख हैं मिसिसॉगा स्ट्रीटविले से नीना तंगरी, मिल्टन से नागरिकता और बहुसंस्कृतिवाद मंत्री परम गिल, ओंटारियो ट्रेजरी बोर्ड के अध्यक्ष पर्बमीत सरकारिया ब्रैम्पटन साउथ से और एनडीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगमीत सिंह के छोटे भाई गुररतन सिंह ब्रैम्पटन ईस्ट से।

यह पढ़े: दुनिया भर के टैलेंट को अपने यहां बुला रहा चीन, अमेरिकी लीडरशिप को समाप्त करना मकसद