Breaking News
Home / दुनिया / मछली निर्यात में भारत की वृद्धि दर विश्व में सर्वाधिक

मछली निर्यात में भारत की वृद्धि दर विश्व में सर्वाधिक

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने “समुद्री मात्स्यिकी” विषय पर चर्चा के लिए समुद्र तटीय राज्यों के मत्स्य-मंत्रियों की बैठक में उन्हें संबोधित किया।

loading...

मछली में भारत की औसत निर्यात दर पिछले एक दशक में 14% की वृद्धि दर के साथ विश्व में सर्वाधिक रही है।

देश में मछली उत्पादन में 2010-14 के मुकाबले 2014-18 में 27% की वृद्धि हुई है।
भारत सरकार ने गहरे-समुद्र में मात्स्यिकी को बढ़ावा देने का निर्णय लिया है एवं ‘नीली-क्रांति’ के अंतर्गत ‘डीप-सी फिशिंग में सहायता’ नामक एक उप-घटक शामिल किया है।

छत्तीसगढ़ में गरजे राहुल, जमकर बोले बीजेपी पर हमले

भारत सरकार ने बजट में मात्स्यिकी और जलकृषि अवसंरचना विकास निधि (एफ. आई. डी. एफ.) की स्थापना के लिए 7,522.48 करोड़ रुपये का अलग से प्रावधान किया है।

हितधारकों से व्यापक विचार-विमर्श करने के उपरांत कृषि मंत्रालय द्वारा 1 मई, 2017 को देश की नई “राष्ट्रीय समुद्री मात्स्यिकी नीति” अधिसूचित की जा चुकी है।

प्रधानमंत्री की रमजान पर बधाई

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि मछली में भारत की निर्यात की औसत दर पिछले एक दशक में 14% की वृद्धि दर के साथ विश्व में सर्वाधिक रही है। देश में मछली उत्पादन में 2010-14 के मुकाबले 2014-18 में 27% की वृद्धि हुई है।

छत्तीसगढ़ में गरजे राहुल, जमकर बोले बीजेपी पर हमले

उन्होंने आगे कहा कि समुद्र के निकटवर्ती क्षेत्र से अतिरिक्त मत्स्य-उत्पादन की नगण्‍य सम्भावनाओं को देखते हुए भारत सरकार ने गहरे-समुद्र में मात्स्यिकी को बढ़ावा देने का निर्णय लिया है एवं ‘नीली-क्रांति’ के अंतर्गत ‘डीप-सी फिशिंग में सहायता’ नामक एक उप-घटक शामिल किया है। उन्होंने यह बात आज कृषि मंत्रालय, नई दिल्ली में आयोजित दक्षिण भारत के तटीय राज्यों के मात्स्यिकी मंत्रियों के सम्‍मेलन में कही।

Loading...
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *