चीन की टेंशन बढ़ाने फ्रांस से भारत आ रहे राफेल लड़ाकू विमान, वायुसेना को मिलेगी और ताकत

भारत-चीन सीमा तनाव के बीच फ्रांस जल्द भारत को राफेल विमानों की डिलीवरी करने जा रहा है। सीमा पर चीन की बढ़ती गुस्ताखी देखते हुए भारतीय वायुसेना ने फ्रांस से राफेल विमानों की जल्द डिलीवरी का विशेष निवेदन किया था। जिसे स्वीकार कर लिया गया है और फ्रांस समय से पहले ही इन विमानों को भारत भेजेगा। जानकारी के मुताबिक अंबाला एयरबेस पर 27 जुलाई को छह राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप फ्रांस से भारत पहुचेंगी।

पूरी खबर को लेकर भारतीय वायुसेना की तरफ से अभी कोई भी आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। बता दे भारत की सितंबर, 2016 में फ्रांस के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों की डील हुई थी। जो करीब 59 हजार करोड़ रुपये की थी। इन विमानों के जरिए भारत की वायुसेना को और ताकत मिलेगी।

जानकारों का मानना है कि चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच राफेल लड़ाकू विमान की डिलीवरी में तेजी लाना काफी अच्छी बात है। वहीं, पहले खेप के अलावा, भविष्य के राफेल विमानों की डिलीवरी में भी तेजी आने की संभावना है। आपको बता दे तय डिलीवरी शेड्यूल के अनुसार पहल 18 लड़ाकू विमान फरवरी 2021 में आने थे और फिर अप्रैल-मई, 2022 में बाकी विमान आने थे। लेकिन फ्रांस ने पहले राफेल विमान को आठ अक्टूबर, 2019 को भेज दिया।

यह भी पढ़े: हरियाणा की टिकटॉक स्टार शिवानी की गला दबाकर हत्या, दो दिन बाद ब्यूटी पार्लर में मिला शव
यह भी पढ़े: नेपाल बॉर्डर के जरिये भारत में घुसने की फिराक में है आतंकी, बिहार में किया गया हाई अलर्ट

Loading...