राहुल गांधी ने कहा – मैं नही कर सकता प्रधानमंत्री मोदी की बराबरी

‘हम सरकार चलाना जानते हैं, हम आपके मन की बात जानते हैं,  लेकिन हम झूठ बोलना नहीं जानते और ना कभी सीखेंगे। हम झूठ बोलने में पीएम मोदी की बराबरी नहीं कर सकते।’ बिहार के पश्चिमी चंपारण की जनता को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ये बातें कही। राहुल गांधी ने कहा कि आमतौर पर दशहरे में रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले जलाए जाते हैं। पहली बार देखने को मिला कि पंजाब में दशहरे पर नरेंद्र मोदी, अंबानी और अडानी के पुतले जलाए जा रहे हैं।

राहुल गांधी जी ने कृषि कानून और किसानों के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। नए कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार को आड़े हाथ लेते हुए राहुल गांधी ने कहा कि खेत के बिना किसान और किसान के बिना शहर नहीं चल सकता है। जो तीन कानून मोदी लाए हैं, जिसका पहला पायलट प्रोजेक्ट बिहार में किया गया था, ये तीन कानून आपके खेतों पर आक्रमण हैं।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में 2006 में मंडी सिस्टम, न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को नष्ट किया गया। किसान समझता है कि उसे अपने माल के लिए सही दाम नहीं मिल सकता इसलिए इन सबको अपने प्यारे प्रदेश को छोड़ना पड़ा। ये मुंबई जाते हैं, बैंगलोर जाते हैं पर खुशी से नहीं जाते। ये इसलिए जाते हैं क्योंकि बिहार को नष्ट कर दिया गया।

राहुल गांधी ने कहा कि बिहार की शक्ति को समझिए। जब महात्मा गांधी दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति से लड़ने जा रहे थे। इंग्लैंड उस समय का सबसे पावरफुल देश था। गांधीजी हरियाणा नहीं गए, यूपी नहीं गए। वो बिहार के चंपारण गए। वो इधर आए, क्योंकि उन्हें मालूम था, अगर हिंदुस्तान को खड़ा करना है तो लड़ाई बिहार से शुरू होगी। रोजगार पर चर्चा करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि देश के सामने रोजगार की सबसे बड़ी समस्या है। अब पीएम नहीं कहते कि मैं 2 करोड़ रोजगार दूंगा। वे जानते हैं कि उन्होने झूठ बोला था। मैं गारंटी देता हूं और आज कह दें कि मैं 2 करोड़ रोजगार दूंगा तो शायद भीड़ उनको भगा दे।

राहुल गांधी ने कहा कि मैं चाहता हूं कि एक बार फिर बिहार का युवा, बिहार का किसान सिर्फ बिहार को रास्ता नहीं दिखाए, पूरे देश को रास्ता दिखाए। मैं वो दिन देखना चाहता हूं, जब बाकी प्रदेशों के युवा रोजगार ढूंढने पटना आएं। हम मिलकर ये काम कर सकते हैं। हमारी सरकार सबकी सरकार होगी, ये गारंटी है। मैं गारंटी दे रहा हूं। हर जात की सरकार होगी, हर धर्म की सरकार होगी।