राजद ने विधान परिषद में 3 नए चेहरों को दी एंट्री, राबड़ी देवी ने विधान परिषद के जरिए अपने भाई की भी कराई राजनीति में एंट्री

पिछले दो दिनों में लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) यादव लगे 2 बड़े झटकों में जहां पांच विधान सभा के सदस्य पार्टी छोड़ जदयू का राह थाम चुके हैं तो वही रघुवंश प्रसाद सिंह के बारे में यह सुनने को आया है कि उन्होंने पार्टी उपाध्यक्ष का पद त्याग दिया था।

परंतु तेजी से घटनाक्रम बदल रहा है और सियासी पारा अभी जोर-शोर से गर्म है, क्योंकि विधान परिषद की 9 सीटों की उम्मीदवारी होनी है।

जहां राजद ने अपने कार्यकर्ताओं को राहत देने के लिए 3 नए चेहरे को विधान परिषद की उम्मीदवारी के लिए तैयार किया है।  वहीं लालू यादव की धर्मपत्नी एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी अपने भाई सुनील कुमार सिंह को विधान परिषद का उम्मीदवार बनाते हुए राजनीति में उनका प्रवेश करवाया है ।

बताते चलें कि सुनील कुमार सिंह लंबे समय से लालू परिवार एवं राजद के बहुत बड़े सहयोगी रहे हैं । जब भी किसी प्रकार की परिस्थिति उत्पन्न हुई है वह हमेशा साथ में खड़े थे।

बताते चलें कि सुनील कुमार सिंह वही भाई हैं जिन्हें बराबर राबड़ी देवी अपना मुंह बोला भाई कहती थी। एवं राखी भी बाँधा करती हैं ।

साथ ही दूसरे उम्मीदवार के रूप में प्रोफेसर रामबली जी हैं जिन्हें विधान परिषद का उम्मीदवार बनाया गया है । यह बीएन कॉलेज के प्रोफेसर है । और तीसरे उम्मीदवार के रूप में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोहम्मद फारुख है।  जिनका बताया जाता है कि मुंबई में अच्छा कारोबार है जो मूल रूप से बिहार के शिवहर के रहने वाले हैं । उन्हें विधान परिषद का तीसरा उम्मीदवार बनाया गया है।