कोविड मरीजों के लिए 875 बेड का फ्री में संचालन करेगा रिलायंस फाउंडेशन

देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई में कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए रिलायंस फ़ाउंडेशन ने मरीज़ों को बेहतर इलाज देने की अपनी मुहिम तेज कर दी है। फाउंडेशन मुंबई में 875 कोविड बेड्स का संचालन अपने हाथों में ले लिया है।

मुंबई में वर्ली स्थित नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ़ इडिया में कोविड मरीजों के लिए बनाई गई 550 बिस्तरों वाली कोविड यूनिट को सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल 1 मई से संभाल लेगा। यहां 100 बिस्तरों वाला आईसीयू भी तैयार किया जा रहा है। 15 मई से यहां गंभीर मरीजों को दाखिला मिलने लगेगा।

इसके अलावा एसिंप्टोमैटिक यानि जिन्हें कोई लक्षण नहीं हैं, ऐसे कोविड मरीज़ों के लिए 100 बेड, मुंबई के बीकेसी में, ट्रायडेंट होटल में तैयार किए जा रहे हैं। देश का पहला कोविड अस्पताल भी रिलायंस फाउंडेशन के डॉक्टर्स ने मुंबई के सेवन हिल्स अस्पताल में तैयार किया था। यहां 100 बेड का पर मरीजों की देखरेख फाउंडेशन कर रहा था। इसकी क्षमता में भी इजाफा किया जा रहा है। 45 आईसीयू बेड समेत अब यहां कुल 125 मरीजों का इलाज रिलायंस फाउंडेशन के जिम्मे होगा।

नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ़ इडिया और सेवन हिल्स अस्पताल में कोरोना के सभी मरीजों का मुफ्त इलाज किया जा रहा है। नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ़ इडिया में मौजूद फैसिलिटी में इलाज में काम आने वाली सभी चीज़ों, जैसे कि आई सी यू बेड, मॉनीटर, वेंटिलेटर सहित अन्य चिकित्सा संबंधित मशीनों और 650 बेड का पूरा खर्च रिलायंस फ़ाउंडेशन उठाएगी। डॉक्टरों और नर्सों सहित फ़्रंटलाइन स्टाफ़ के 500 से ज़्यादा सदस्य चौबीसों घंटे मरीज़ों की सहायता के लिए तैनात रहेंगे।

रिलायंस फ़ाउंडेशन ने कोविड मरीज़ों के इलाज के लिए जो नए क़दम उठाए हैं इनके बारे में संस्था की चेयरपर्सन श्रीमती नीता अंबानी ने कहा, –

“रिलायंस फाउंडेशन हमेशा देश की सेवा में सबसे आगे रहा है और यह हमारा कर्तव्य है कि महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में हम भारत का साथ दें। मरीजों को बेहतरीन चिकित्सा सेवा प्रदान करके, हमारे डॉक्टरों और फ़्रंटलाइन स्टाफ़ ने अपने अथक प्रयासों से अनेकों मरीज़ों की जान बचाने में मदद की है। सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल मुंबई शहर में कोविड मरीजों के लिए कुल 875 बिस्तरों का प्रबंधन करेगा।”

“हम गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दमन, दीव और नगर हवेली को 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन रोज़ मुफ्त में उपलब्ध करा रहे हैं। ऑक्सीजन का प्रोडक्शन और भी बढ़ाने की कोशिशें की जा रही हैं। इस खराब दौर में भारत और मुंबई की मदद के लिए हम प्रतिबद्ध हैं, एक भारतीय के रूप में हमसे जो भी कुछ भी बन पड़ेगा हम करेंगे। कोरोना हारेगा इंडिया जीतेगा!”

रिलायंस फाउंडेशन ने पिछले साल “अन्न सेवा” के तहत 5.5 करोड़ लोगों को भोजन कराया था। ये कठिन वक्त में दुनिया का सबसे बड़ा भोजन देने का कार्यक्रम था।