रिलायंस रिटेल में अमेरिकी कंपनी KKR 5550 करोड़ में खरीदेगी 1.28 फीसदी हिस्सेदारी

एशिया के सबसे बड़े अमीर मुकेश अंबानी अपनी रिटेल कंपनी के लिए फंड जुटाने में लगे हुए है। उन्होंने रिलायंस रिटेल के लिए अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी सिल्वर लेक के बाद दूसरे निवेशक की खोज कर ली है। दूसरे निवेशक के रूप में रिलायंस रिटेल को अमेरिकी कंपनी केकेआर का साथ मिला है। केकेआर 1.28 फीसदी हिस्सेदारी 5550 करोड़ रुपये में खरीदेगी। केकेआर ने रिलायंस रिटेल में 4.21 लाख करोड़ रुपये के वैल्युएशन पर निवेश किया है।

केकेआर ने जियो प्लेटफॉर्म्स में इसी साल की शुरुआत में 11,367 करोड़ का निवेश किया था। यह केकेआर का रिलायंस इंडस्ट्रीज की एक सहायक कंपनी में दूसरा निवेश है। गौरतलब है कि रिलायंस रिटेल लिमिटेड के देशभर में 12,000 से ज्यादा स्टोर्स फैले हुए है, जिनमें सालाना करीब 64 करोड़ ग्राहक पहुंचते है। यह भारत का सबसे बड़ा और सबसे तेजी से बढ़ रहा रिटेल बिजनेस है। कंपनी का उद्देश्य किफायती मूल्य पर सेवा और लाखों रोजगार पैदा करना है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने रिलायंस रिटेल में केकेआर का निवेशक के रूप में स्वागत किया है। उन्होंने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि ‘हम अपने डिजिटल सेवाओं और रिटेल बिजनेस में केकेआर के ग्लोबल प्लेटफॉर्म, इंडस्ट्री नॉलेज और ऑपरेशनल एक्सपर्टिस का लाभ लेने को तैयार हैं।’ अंबानी ने कहा कि हम सभी देशवासियों के लिए भारतीय रिटेल इकोसिस्टम को विकसित करने और बदलने के लिए लगातार आगे बढ़ रहे है।

यह भी पढ़े: अमेरिकी सांसद ने कहा, भारत-अमेरिका के साथ संबंध मजबूत करने के लिए PAK को रोकना होगा आतंकवाद
यह भी पढ़े: शाहीन बाग वाली ‘दादी’ बिलकिस दुनिया के 100 प्रभावशाली हस्तियों में शामिल