राहत भरी खबर: चीन में बने कोरोना के पहले टीके का मानव परीक्षण रहा सफल

कोरोना महामारी ने दुनियाभर में तबाही मचा रखी है। विश्वभर के तमाम वैज्ञानिक कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे हुए है। इसी बीच कोरोना के कतिथ जन्मदाता चीन ने इस बीमारी का टीका बनाया है। जिसका पहला मानव परीक्षण सफल होने की जानकारी सामने आई है। खबर के मुताबिक चीन में कोरोना का पहला टीका मानव के लिए सुरक्षित, सहनीय और प्रतिरोधक प्रतिक्रिया उत्पन्न करने वाला पाया गया है। जोकि विश्वभर के लिए अच्छी खबर है।

‘द लांसेट’ नाम की एक पत्रिका में दावा किया गया है कि 108 वयस्कों पर हुए अध्ययन के मुताबिक चीन में बना कोरोना का पहला टीका मानव परीक्षण में सफल रहा है। पत्रिका ने दावा किया है कि इस टीके ने सार्स-सीओवी-2 को खत्म करने वाले एंटीबॉडी पैदा किए और रोग प्रतिरोधक तंत्र की टी-कोशिकाओं की मदद से प्रतिक्रिया उत्पन्न की है। वही दूसरी तरफ बीजिंग इस्टीट्यूट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी के अनुसंधानकर्ताओं ने इसकी और जांच करने की बात कही।

अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि सार्स-सीओवी-2 संक्रमण के खिलाफ यह टीका संरक्षण देता है या नहीं, इसके अनुसंधान की जरुरत है। अध्यन में किये गए दावे के मुताबिक 108 स्वस्थ वयस्कों पर किए गए परीक्षण में इस टीके ने 28 दिन बाद अच्छे परिणाम दिखाए है। लेकिन अभी भी अगले छह महीने में इसके अंतिम परिणामों का आकलन किया जाएगा। वैज्ञानिकों ने इस टीके का नाम ‘एडी5 वेक्टर्ड’ बताया है, जो मनुष्यों में जांचा गया पहला टीका है।

यह भी पढ़े: कोरोना के इलाज में 130 से ज्यादा दवाओं का हो रहा ट्रायल, एंटीवायरल रीमेडिविर हो रही असरदार
यह भी पढ़े: मंत्री किरण रिजिजू ने कहा, निकट भविष्य में किसी भी इंटरनेशनल टूर्नामेंट की मेजबानी नहीं करेगा भारत

Loading...