रिटायरमेंट सेहत के लिए है बहुत फायदेमंद

एक नए अध्ययन में यह दावा किया गया है कि सेवानिवृत्ति के बाद लोग बहुत अधिक सक्रिय हो जाते हैं, चैन की नींद सोते हैं और उनके धूम्रपान करने की संभावना भी बहुत कम हो जाती है।

इस अध्ययन के लिए 25,000 ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों की शारीरिक गतिविधियों, उनके खान पान, नींद, अन्य गतिविधियों तथा अल्कोहल के सेवन आदि का तुलनात्मक विश्लेषण भी किया गया।

यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी के मुख्य शोधार्थी ने बताया ‘हमारे शोध के अनुसार, सेवानिवृत्ति का सकारात्मक जीवनशैली संबंधी बदलावों से संबंध है।’ उन्होंने कहा ‘सेवारत व्यक्तियों की तुलना में सेवानिवृत्त लोगों की शारीरिक गतिविधियों का स्तर बहुत बढ़ जाता है, उनके बैठे रहने का समय कम हो जाता है, उनके धूम्रपान करने की संभावना भी बहुत कम रहती है और वह अच्छी नींद सोते हैं।’

डिंग ने बताया, ‘सेवानिवृत्ति के बाद जीवनशैली में जो बड़ा बदलाव आता है वह है सकारात्मक शैली की ओर उन्मुख होने का अवसर। यह वह मौका है जब आप अपनी हानिकारक दिनचर्या से छुटकारा पा सकते हैं और स्वास्थ्य के लिए बेहतर पक्षों को अपना भी सकते हैं।’

अध्ययन के अनुसार, सेवानिवृत्त लोगों की शारीरिक गतिविधि एक सप्ताह में 93 मिनट तक बढ़ जाती है। उनके एक ही जगह पर बैठे रहने के समय में हर दिन 67 मिनट की कमी आती है और नींद की अवधि 11 मिनट प्रति दिन बढ़ जाती है। शोधार्थियों ने यह भी पाया कि धूम्रपान करने वाली 50 फीसदी महिलाएं सेवानिवृत्ति के बाद यह आदत भी छोड़ देती हैं।

Loading...