मधुमेह के रोगियों के लिए लाभदायक नहीं होता चावल

चावल का सेवन हम लगभग रोज़ाना ही करते है। ऐसा बहुत कम ही होता है जिस दिन हम चावल न खाएं। इसके बिना भोजन अपूर्ण है। चावल खाना हर किसी को पसंद होता है। इसके कई लाभ है तो कई नुकसान भी है। इसमें कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में पाया जाता है। पेट के रोगों को दूर करने में चावल बहुत फायदेमंद होते है।

परन्तु अधिक मात्रा में चावल का सेवन करने से अनेको बीमारीयां हो सकती है। चावल अस्थमा, मधुमेह के पेशेंट्स के लिए लाभदायक नहीं होता क्यूंकि इसमें कोई भी पोष्टिक तत्व नहीं मौजूद होते। आइए जानें चावल के नुकसान के बारे में:

आलस बढ़ाए –

चावल का सेवन करने से बहुत आलस आता है। यह शरीर को बहुत ढीला ढीला बना देता है जिससे व्यक्ति को नींद ही नींद आती रहती है। इसके अलावा यह शुगर को बहुत ज्यादा बढ़ा देता है। चावल का सेवन कम ही करें।

डायबिटिक पेशेंट्स में ग्लूकोज को बढ़ाए

मधुमेय के रोगियों के लिए चावल बहुत नुकसानदायक होता है। इसके इस्तेमाल से मधुमेह रोगी के शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बहुत बढ़ जाती है जिससे शुगर बहुत हाई लेवल पर पहुंच जाती है। मधुमेय के पेशेंट्स को चावल का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए। अगर चावल खाने की इच्छा हो रही हो तो ब्राउन राइस का इस्तेमाल करना चाहिए।

पोषक तत्वों नहीं होते मौजूद

चावल में ऐसे कोई भी पोषक तत्त्व नहीं पाए जाते जिससे शरीर को फायदा मिले। इसके केवल कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है। इसके सेवन से शरीर को बिलकुल भी लाभ नहीं मिलता।

अस्थमा रोगी के लिए नुकसानदायक

अस्थमा के पेशेंट्स के लिए चावल बहुत नुकसानदायक है। चावल का सेवन करने से अस्थमा के रोगियों को सांस संबंधी समस्या होने लगती है क्यूंकि चावल की तासीर ठंडी होती है जो उनके शरीर के लिए नुकसानदायक है। इसके इस्तेमाल से सांस लेने में काफी तकलीफ होती है।

फैट बढाए

फैट की मात्रा ज्यादा होने की वजह से चावल शरीर में मोटापे को बढ़ा देता है। जो लोग हेल्थ कॉन्शियस होते है उन्हें चावल का इस्तेमाल बिलकुल नहीं करना चाहिए। इसके सेवन से फैट बहुत बढ़ जाता है जो कंट्रोल होना मुश्किल होता है।

यह भी पढ़ें:

इस मानसून में जरूर खाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाली ये 3 चीजें

वायरल फीवर को कुछ ही समय में कीजिए छूमंतर, जानिए कैसे?