हाथरस गैंगरेप के नाम पर UP में दंगों की रची गई साजिश, पुलिस ने किया दावा

हाथरस घटना के बाद उत्तर प्रदेश में जातीय दंगे भड़काने का प्रयास किया गया था। इस बात का खुलासा उत्तरप्रदेश पुलिस की इंटेलिजेंस रिपोर्ट में किया गया हैं। पुलिस ने दावा किया हैं कि दलित युवती के साथ गैंगरेप की घटना के बाद प्रदेश में पहले ही माहौल गर्म है, ऐसे में दूसरी तरफ कुछ लोगों ने माहौल को भुनाने के उद्देशय से ‘जस्टिस फॉर हाथरस’ नाम से एक वेबसाइट तैयार की और उस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गलत बयानों को प्रसारित किया गया।

पुलिस ने दावा करते हुए कहा कि आरोपियों ने राज्य में माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया गया। रविवार रात पुलिस ने वेबसाइट और इससे जुड़ी लोकेशन पर छापेमारी करने के बाद लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने माहौल बिगाड़ने के मामले में पॉपुलर फ्रंट फॉर इंडिया समेत कुछ अन्य संगठनों पर आरोप लगाया हैं। प्रदेश के डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने कहा कि ‘जस्टिस फॉर हाथरस’ नाम से वेबसाइट बना माहौल बिगाड़ा जा रहा है।

अवस्थी ने बताया कि वेबसाइट को भारत के बाहर से संचालित किया जा रहा था। इसमें न सिर्फ भड़काऊ सामग्री थी बल्कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस की कार्रवाई से बचाव के तरीके भी बताए गए हैं। वहीं, इस वेबसाइट पर पीड़िता के परिवार को मदद के बहाने दंगों के लिए फंडिंग की जा रही थी।

यह भी पढ़े: बारां दुष्कर्म कांड को लेकर भाजपा का जयपुर में प्रदर्शन, हिरासत में सतीश पूनिया
यह भी पढ़े: JDU और RJD ने जारी किये कुछ उम्मीदवारों के नाम, जानें किसे कहां से मिला टिकट