Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / प्याज की बढ़ती कीमतों के बाद सरकार पर लगे ये आरोप

प्याज की बढ़ती कीमतों के बाद सरकार पर लगे ये आरोप

दिल्ली सरकार के खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने बुधवार को विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की जिसमे उन्होंने प्याज के मूल्य में अप्रत्याशित बढ़ोतरी पर चर्चा की। इसमें नैफेड के प्रतिनिधि भी शामिल हुए और प्याज के बढ़ रहे दामों पर चिंता जताई।

खाद्य मंत्री ने कहा कि सरकार इस स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होने खाद्य आयुक्त को निर्देश दिए कि लोगों के घर तक प्याज पहुंचाने का इंतजाम जल्द से जल्द किया जाना चाहिए।

Loading...

खाद्य मंत्री ने नैफेड से प्रतिदिन दस ट्रक प्याज खरीदकर लोगों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। साथ ही नैफेड को प्याज आपूर्ति के लिए ऑर्डर भी दे दिया गया, ताकि जनता तक आसानी से प्याज उपलब्ध हो सके और मूल्य में तुरंत कमी लाई जा सके। उन्होंने सभी एजेंसियों से तालमेल कर काम करने के लिए कहा है। प्याज लोगों की मुख्य आवश्यकता है, इसकी पर्याप्त आपूर्ति के लिए सरकार हरसंभव कोशिश करेगी।

प्याज की कीमत 70 से 80 रुपये प्रतिकिलो पहुंच चुकी है। जो की एक आम इंसान के लिए ज्यादा है। खाद्य मंत्री ने विभाग के आलावा अधिकारियों से भी कहा कि राजधानी में प्याज की कालाबाजारी पर तुरंत से तुंरत कार्रवाई करें और इसकी प्रतिदिन रिपोर्ट मुहैया कराएं। खाद्य सचिव ने कहा कि जिन राज्यों से दिल्ली को प्याज आपूर्ति की जाती है। उनमें भारी वर्षा होने व प्याज की फसल में लगे मजदूरों के दिवाली व छठ के अवसर पर काम पर न आने के कारण से आवक में कमी आई है। इसकी वजह से ही अचानक मूल्य में वृद्धि हुई है।

प्याज का बफर स्टॉक न बनाए रखने पर भाजपा ने लगाया आरोप

दिल्ली विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को एक पत्र लिखकर प्याज की कीमत बढ़ने पर दस सवाल पूछे हैं। इस पत्र में उन्होंने प्याज का स्टॉक रखने और जनता को सस्ती प्याज देने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी मांगी है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इस समय दिल्ली में 80-100 रुपये प्रतिकिलो प्याज बिक रहा है। जबकि केंद्र सरकार ने बार-बार पत्र लिखकर दिल्ली सरकार से प्याज का बड़ा स्टॉक बनाने का आग्रह किया था। लेकिन, दिल्ली सरकार ने केंद्र से 15.90 रुपये प्रतिकिलो सस्ती प्याज लेने से साफ़- साफ़ इन्कार कर दिया।

https://twitter.com/Gupta_vijender/status/1191699003366400000

विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि केंद्र ने कई बार दिल्ली सरकार से सस्ती प्याज लेने का आग्रह किया पर 28 सितंबर को मुख्यमंत्री ने स्वयं प्याज के ट्रकों को हरी झंडी दिखाकर 400 दुकानों और 70 वैन को रवाना किया लेकिन उसके बाद जानबूझकर इस पूर्ति को स्वयं बाधित किया। क्या ये सही है कि दिल्ली सरकार ने 4 अक्टूबर को सप्लाई आर्डर यह कहते हुए रद कर दिया कि उसके पास प्याज के पहले से ही पर्याप्त स्टॉक है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *