चुनाव पहले RJD को लगा एक और झटका, विधायक बीरेंद्र कुमार ने छोड़ा साथ

बिहार में चुनावी घमासान जोरों पर है और नेताओं का एक दल से दूसरे दल में जाना जारी है। प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी आरजेडी को लगातार झटके मिल रहे है। दरअसल, उसके एक के बाद एक नेता पार्टी का साथ छोड़कर जा रहे हैं। मंगलवार को भी लालू प्रसाद यादव की आरजेडी को एक और बड़ा झटका लगा है। इस बार विधायक बीरेंद्र कुमार ने नीतीश कुमार की सत्ताधारी जेडीयू का दामन थाम लिया है। वे सातवें विधायक है जो चुनाव पहले जेडीयू में गए है।

तेघरा निर्वाचन क्षेत्र के विधायक बीरेंद्र कुमार ने कहा, ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शुरू किए गए बड़े पैमाने पर विकास कार्यों ने उन्हें पार्टी में शामिल होने के लिए प्रेरित किया। इससे पहले 20 अगस्त को परसा विधानसभा क्षेत्र से विधायक और लालू यादव के संबधी चंद्रिका राय ने भी आरजेडी छोड़ जेडीयू का दामन थाम लिया था। उसी दिन राजद के पालीगंज विधायक जय वर्धन यादव और केवटी विधायक फराज फातमी ने भी नीतीश कुमार के साथ पाले में चले गए थे।

यही नहीं 17 अगस्त को राजद के तीन विधायक, गायघाट विधायक महेश्वर प्रसाद यादव, पटेपुर विधायक प्रेमा चौधरी और सासाराम विधायक अशोक कुमार कुशवाहा भी जदयू में शामिल हो गए थे। इसके अलावा जीतन राम मांझी के नेतृत्व वाले हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने राजद का साथ छोड़ बड़ा झटका दिया।

यह भी पढ़े: IPL 2020: CSK के दो खिलाड़ी समेत 13 लोगों की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव
यह भी पढ़े: सुशांत के परिवार के खिलाफ केस दर्ज कराएगी रिया चक्रवर्ती, बताई यह बड़ी वजह