भारत में हो सकता है रूसी वैक्सीन का उत्पादन, पुतिन ने बताया सुरक्षित और प्रभावी

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने देश में बनी ‘स्पूतनिक वी’ नाम की कोरोना वैक्सीन को पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावी करार दिया है। उन्होंने वैक्सीन की तारीफ करते हुए कहा है कि पिछले दो महीने में कुछ दर्जन लोगों पर परीक्षण के बाद इसे अप्रूव किया गया। इसी वजह से इसकी आलोचना हो रही है। लेकिन इन सभी आलोचनाओं को दरकिनार करते हुए पुतिन ने कहा कि दुनिया के पहली कोरोना वैक्सीन को नियमों का सख्ती से पालन करते हुए मंजूर किया गया।

पुतिन ने कहा कि नियम अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप हैं। इस बीच खबर है कि टीके के उत्पादन के लिए रूस और भारत में बातचीत भी चल रही है। पुतिन का यह दावा ऐसे समय में आया है जब दुनियाभर के कई विशेषज्ञ इस वैक्सीन के फास्ट ट्रैक अप्रूवल को लेकर चिंता जाहिर कर चुके है। उनका कहना है कि रूस ने वैक्सीन को लेकर कोई डेटा नहीं शेयर नहीं किया है, जो साइंटफिक प्रोटोकॉल में खामी दर्शाता है। इसी बीच पुतिन ने वैक्सीन पर भरोसा जताया है।

एक टीवी इंटरव्यू में पुतिन ने कहा, हमारे विशेषज्ञों ने स्पष्ट किया है कि यह टीका स्थायी इम्युनिटी पैदा करता है और सुरक्षित है। पुतिन ने कहा कि उनकी एक बेटी को भी टीका लगाया जा चुका है, जिससे उसके शरीर में एंटीबॉडी डिवेलप हुआ है और वह ठीक महसूस कर रही है। इसी बीच खबर है कि भारत में वैक्सीन उत्पादन की क्षमता को देखते हुए रूस, भारत के साथ करार करना चाहता है। इस खबर पर भारत के स्वास्थ्य सचिव राजेश बूषण ने मुहर लगाई है।

यह भी पढ़े: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी पर व्हाट्सएप के साथ सांठगांठ का लगाया आरोप
यह भी पढ़े: एक्शन में योगी सरकार, लव जेहाद का खेल खेलने वालों के खिलाफ होगी कार्यवाही

Loading...