सचिन वाझे ने एनआईए को लिखा पत्र – अनिल देशमुख ने दिया था 100 करोड़ का टारगेट

मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक लदी कार खड़ी करने और मनसुख हिरेन की हत्या के आरोप में गिरफ्तार मुंबई पुलिस निलंबित अधिकारी सचिन वाझे ने पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के आरोपों को सही ठहराया है।

सचिन वाझे ने एनआईए को लिखे पत्र में स्वीकार किया है कि महाराष्ट्र के तत्कालीन गृहमंत्री अनिल देशमुख और ट्रांसपोर्ट मंत्री अनिल परब ने उन्हें उगाही करने को कहा था। इससे पहले मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने भी आरोप लगाया था कि अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को हर महीने 100 करोड़ रुपए उगाही का टारगेट दिया था।

सूत्रों के मुताबिक निलंबित असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाझे ने एनआईए को हाथ से लिखे पत्र में दावा किया कि एनसीपी चीफ शरद पवार मुंबई पुलिस में उसकी बहाली के विरोध में थे।

अनिल देशमुख ने वाझे से कहा था कि यदि वह 2 करोड़ रुपए लाकर दे तो वह शरद पवार को मना लेंगे। सचिन वाझे ने दावा किया कि महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने भी उसे बीएमसी से जुड़े 50 ठेकेदारों से 2-2 करोड़ रुपए उगाही करने का लक्ष्य दिया था।

यह भी पढ़ें:

अभिनेत्री श्रुति हासन के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की मांग