तीन कृषि कानूनों के एक साल पूरे होने पर SAD ने संसद भवन तक विरोध मार्च निकाला

शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के एक साल पूरे होने पर गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब से संसद भवन तक विरोध मार्च निकाला। इस विरोध मार्च में भारी संख्या में लोगों ने भाग लिया। SAD के विरोध प्रदर्शन में कई ट्रकों को सजाया गया था और प्रदर्शन में शामिल SAD कार्यकर्ताओं ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों को तुरंत समाप्त करने के लिए नारे लगाए।

दिल्ली पुलिस ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल के विरोध मार्च के मद्देनजर दिल्ली के शंकर रोड इलाके में भारी संख्या में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की थी। मगर विरोध प्रदर्शन के दौरान किसी भी तरह की कोई अनहोनी की घटना नहीं हुई। पूरा प्रदर्शन ज्यादातर शांतिपूर्वक तरीके से ही सम्पन्न हुआ। हां, कुछ कार्यकर्ताओं ने पुलिस बैरिकेट को क्रॉस करने का प्रयास जरूर किया। ज्ञात हो कि दिल्ली पुलिस ने इस विरोध-प्रदर्शन के लिए कोई भी अनुमति नहीं दी थी।

ज्ञात हो कि प्रदर्शन शुरू होने से पहले दिल्ली के डीसीपी दीपक यादव प्रदर्शन के शुरुआती स्थल गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब गए और शिरोमणि अकाली दल (SAD) के जमा हुए कार्यकर्ताओं से बात की और उन्हें समझाने का प्रयास किया कि विरोध प्रदर्शन करने की कोई अनुमति नहीं है। बाद में SAD कार्यकर्ताओं ने शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन और रैली निकाली।

रैली को संबोधित करते हुए SAD नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि कई किसान मारे गए हैं और कई अभी भी राज्य की सीमाओं पर बैठे हैं लेकिन यह सरकार (केंद्र) उदासीन है। तीन कृषि कानूनों को निरस्त होने तक हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।

ज्ञात हो कि SAD विगत लंबे समय से केंद्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहा है। इन कानूनों के विरोध में SAD के सांसदों ने पूरे मॉनसून सत्र के दौरान संसद के बाहर तख्तियां लेकर विरोध करते रहें। मॉनसून सत्र के दौरान SAD सांसदों ने कई बार इस मुद्दे को संसद के अंदर भी उठाने का प्रयास किया, मगर पूरे सत्र के दौरान हंगामा होते रहने के कारण यह मुद्दा अच्छे से नहीं उठ सका।

– एजेंसी/न्यूज़ हेल्पलाइन

यह भी पढ़ें: जन्मदिन विशेष: जानिए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन से जुड़ी ये खास बातें!