सहारा का रेगिस्तान: टूटा 50 साल का रिकॉर्ड, बिछी बर्फ की चादर

सहारा का रेगिस्तान जहाँ इस समय तापमान 25 से 30 डिग्री के बीच रहता था, लेकिन बदले मौसम के साथ अब यहां का तापमान माइनस 3 डिग्री पहुंच चुका है। इसने 50 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

मौसम वैज्ञानिक बताते हैं कि दुनिया में जनवरी में बर्फ पड़ने लगती है, वहीं अफ्रीका और मध्य पूर्व के रेगिस्तानों में ऐसा नहीं होता। इस बार वहां भी बर्फबारी के कारण रेत पर सफेद चादर बिछ गई है। सऊदी अरब के असीर प्रांत में बर्फबारी हुई है। इससे स्थानीय लोग खुश हैं। उनमें उत्सुकता का माहौल है। रेगिस्तान पर बर्फबारी के बाद यहां विदेशी पर्यटक भी पहुंचने लगे हैं।

वैज्ञानिकों का यह भी दावा है कि यह रेगिस्तान 15 हजार साल में हरा-भरा हो सकता है. उत्तरी अफ्रीका का अधिकतर हिस्सा सहारा रेगिस्तान से घिरा है। यह हजारों साल से अपने तापमान और नमी की वजह से चर्चा में रहता है। अइन सेफरा अभी सूखा पड़ा है। यह रेगिस्तान एक बार फिर हरा-भरा हो सकता है।

यह भी पढ़ें:

पड़ोसी देशों को टीके की 1 करोड़ खुराक दान करेगा भारत, पाकिस्तान का नाम नहीं