संजय राउत के बाद अब पत्नी वर्षा से ED की पूछताछ, पात्रा चॉल घोटाले से जुड़ा है नाम

पात्रा चॉल जमीन घोटाले (Patra Chawl Land Scam Case) से जुड़े मामले में शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत (Varsha Rout) शनिवार को मुंबई में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के समक्ष पेश हुईं. मनी लॉन्ड्रिंग का यह मामला एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं और उससे संबंधित लेनदेन से जुड़ा है. ईडी ने इस मामले में संजय राउत को गिरफ्तार किया है.

केंद्रीय एजेंसी ने इस सप्ताह की शुरुआत में वर्षा राउत को समन भेजा था. इसके बाद वह शनिवार सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर दक्षिण मुंबई में बलार्ड एस्टेट स्थित ईडी के दफ्तर में वर्षा राउत पहुंचीं. ईडी उन्हें संजय राउत और इस मामले के अन्य आरोपियों के आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है. ईडी कार्यालय के बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

8 अगस्त तक ईडी की हिरासत में संजय राउत
केंद्रीय एजेंसी मुंबई के गोरेगांव इलाके में पात्रा चॉल के पुनर्विकास से जुड़े 1,034 करोड़ रुपये के कथित जमीन घोटाले की जांच कर रही है. ईडी ने इस मामले में शिवसेना राज्यसभा सांसद संजय राउत को 1 अगस्त को गिरफ्तार कर चुकी है. एक स्थानीय अदालत ने गुरुवार को उन्हें 8 अगस्त तक हिरासत में भेज दिया था.

बता दें कि वर्षा राउत वैसे तो भांडुप में एक स्कूल टीचर हैं लेकिन वे पति संजय राउत और दोनों बेटियों के साथ बिजनेस में भी सक्रिय हैं. संजय राउत का परिवार भांडुप की फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित बंगले में रहता है. संजय राउत द्वारा चुनावी एफिडेविट में दी गई जानकारी के अनुसार वर्षा राउत तीन कंपनियों में पार्टनर हैं.

तीन कंपनियों में हैं पार्टनर
इन कंपनियों की बात करें तो वर्षा राउत रॉयटर एंटरटेनमेंट एलएलपी, सनातन मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड और सिद्धांत सिस्कोन प्राइवेट लिमिटेड में पार्टनर हैं. रायटर ने ही ठाकरे फ़िल्म का निर्माण किया था. साल 2014- 15 में एफिडेविट के मुताबिक वर्षा राउत की आमदनी 13,15,254 थी. ऐसे में अब उन पर भी Patra Chawl Scam मामले में गंभीर आरोप लग रहे हैं जिसके चलते ईडी अब उन्हें भी पूछताछ के लिए बुला रही है.

यह भी पढ़ें:

अल-जवाहिरी की मौत से सहमा पाकिस्तान, सताने लगा है भारत के सर्जिकल स्ट्राइक का डर