SC की व्हाट्सएप को फटकार, कहा-लिखकर दें थर्ड पार्टी से शेयर नहीं करेंगे डेटा

व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवाद अभी थमा नहीं हैं। इसी बीच सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने व्हाट्सऐप को फटकार लगाते हुए कहा हैं कि वह यह लिखकर दे कि यूजर्स का डेटा किसी तीसरी पार्टी के साथ साझा नहीं किया जाएगा। कोर्ट ने पूरे मामले पर फेसबुक, केंद्र सरकार और व्हाट्सऐप तीनों को नोटिस जारी किया हैं। जिसके बाद अब कोर्ट ने पूरे मामले की अगली सुनवाई चार हफ्ते के लिए टाल दी है। कोर्ट का यह फैसला व्हाट्सएप को झटका हैं।

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि लोगों को अपनी निजता को लेकर बहुत चिंता है। कोर्ट ने व्हाट्सऐप को चेताते हुए कहा कि भले ही आप दो ट्रिलियन या तीन ट्रिलियन की कपंनी होंगे, लेकिन लोगों की निजता पैसो से ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। यह आपकी ड्यूटी हैं कि लोगों की निजता सुरक्षित रहे। बता दे सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला साल 2016 में आई व्हाट्सऐप पॉलिसी को लेकर सुनाया गया है।

याद दिला दे साल 2016 में सुप्रीम कोर्ट में व्हाट्सऐप की निजता पॉलिसी के खिलाफ कर्मण्य सिंह सरीन ने याचिका दायर की थी। जिसके मुताबिक फेसबुक ने जबसे व्हाट्सएप को खरीदा हैं, तभी से यूजर्स का डेटा फेसबुक के साथ शेयर हो रहा हैं। यह मामला सुप्रीम कोर्ट की संविधानिक पीठ के पास लंबित है।

यह भी पढ़े: बंगाल में भाजपा करेगी ‘कृषक सोहो भोज’ का आयोजन, जानें इसकी खास बातें
यह भी पढ़े: चर्म रोगों से जुड़ी बड़ी समस्या है मस्से होना, ऐसे करें इसका इलाज