सेक्स और भोजन ‘दिव्य आनंद’ जो सीधा ईश्वर से पहुंचता है: पोप फ्रांसिस

कैथोलिक चर्च के प्रगतिशील धर्मगुरुओं में से एक रहे पोप फ्रांसिस ने एक अजीब दावा किया है। उन्होंने कहा है कि सेक्स और भोजन ऐसा ‘दिव्य’ आनंद है, जो सीधा ईश्वर से पहुंचता है। उन्होंने यह बातें लेखक कार्लो पेट्रिनी की किताब “TerraFutura” के लिए दिए एक इंटरव्यू में कही है।

पोप फ्रांसिस ने कहा कि खाने का आनंद आपको स्वस्थ रखने के लिए है। ठीक उसी प्रकार यौन सुख प्यार को और अधिक सुंदर बनाने और स्पीशिज को जारी रखने की गारंटी देने के लिए है। उनोने आगे कहा कि इसके विपक्षी विचारों से काफी नुकसान हुआ है, जिसे आज भी कई मामलों में देखा जाता है।

पोप फ्रांसिस ने साल 2016 में सेक्स के आनंद को स्वीकार करते हुए कहा कि विवाहित जोड़ों को अपनी शादी के दौरान उस आनंद को बरकरार रखने करने की आवश्यकता है। फिर 2018 में उन्होंने युवा फ्रांसीसी लोगों से सेक्स को आजीवन एक पुरुष और एक महिला के बीच भावुक प्रेम का संकेत बताया था।

यह भी पढ़े: चीन ने भारत को लौटाए अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए पांच भारतीय युवक
यह भी पढ़े: IPL में खेलने वाले पहले अमेरिकी बनेंगे अली खान, KKR ने टीम में किया शामिल

Loading...