शिंदे की शिव सेना ही असली शिव सेना:आठवले

केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने दावा किया है कि असली शिव सेना विद्रोही विधायक एकनाथ शिंदे की है।

उन्होंने कहा कि श्री शिंदे का विद्रोह शिव सेना के लिए एक बड़ा झटका है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में और वर्तमान स्थिति में राज्य में सत्ता में परिवर्तन अपरिहार्य था।

श्री आठवले ने जिले के मिराज कस्बे में गुरुवार को दोपहर बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि विधायकों के संख्या के खेल को देखते हुए, असली शिव सेना श्री शिंदे के साथ है। श्री शिंदे ने 36 विधायकों का समर्थन हासिल किया। पिछले ढाई वर्षों से शिवसेना विधायकों में नाराजगी थी। महा विकास अघाड़ी (एमवीए) केवल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ आरोप लगाकर सत्ता बनाए रखने की कोशिश कर रहा था और इस आधार पर एमवीए के उम्मीदवार हाल ही में हुए राज्य सभा और राज्य विधान परिषद चुनावों में हार गए।

श्री आठवले ने कहा कि भाजपा ने शिवसेना को मुख्यमंत्री पद का कोई आश्वासन नहीं दिया था, लेकिन इसके वरिष्ठ नेता और सांसद संजय राउत ने श्री ठाकरे को भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने के लिए प्रेरित किया। श्री आठवले ने कहा कि वह विपक्षी नेता श्री देवेंद्र फडणवीस से मिले और विद्रोही शिवसेना नेता श्री शिंदे के साथ सरकार बनाने की अपील की है। यदि यह सरकार बनती है तो वह रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले समूह) को निगम और विभिन्न समितियों में मंत्री पद और प्रतिनिधित्व के लिए मांग करेंगे।

उन्होंने एक आदिवासी महिला श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में अवसर देने के
लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी देकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार को बलि का बकरा बनाने का फैसला किया था, लेकिन श्री पवार ने
राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए इनकार कर दिया। उन्होंने दावा किया कि आने वाले चुनाव में भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगी मुंबई नगर निगम के आगामी चुनाव में जीत हासिल करेंगे।

यह भी पढ़ें:-

वोडाफोन आइडिया ने AGR का बकाया भुगतान टाला, जानें कंपनी कब करेगी 8,837 करोड़ रुपये का पेमेंट