बिहार चुनावों में 50 सीटों पर दमखम दिखाएगी शिवसेना, अलग होगा चुनाव चिन्ह

महाराष्ट्र की सत्तासीन शिवसेना अब बिहार विधासभा चुनावों में भी अपनी किस्मत आजमाना चाहती हैं। शिवसेना ने बिहार चुनावों में 50 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारने का फैसला लिया हैं। पार्टी बिना किसी गठबंधन अकेले ही मैदान में होगी। पार्टी के राज्यसभा सांसद अनिल देसाई ने कहा कि बिहार चुनाव में हमने उम्मीदवारों को उन क्षेत्रों में चुनावी मैदान में उतारा है, जहां हमारे कैडर सार्वजनिक कार्य में शामिल रहे हैं। लेकिन यहां पार्टी का चुनावी चिन्ह अलग होगा।

देसाई ने बताया कि बिहार चुनाव के लिए शिवसेना का चुनाव चिह्न ‘तुरा बजाते हुए आदमी’ होगा। दरअसल, चुनाव आयोग ने शिवसेना को अपनी पार्टी के प्रतीक ‘धनुष और तीर’ का इस्तेमाल करने से रोक दिया था क्योंकि बिहार विधानसभा चुनाव में जदयू के चुनाव चिन्ह ‘तीर’ से वह काफी मिलता-जुलता हैं।

उन्होंने कहा कि बिहार में चुनाव प्रचार के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के कार्यक्रम आदि के बारे में स्वयं पार्टी और सीएम द्वारा जानकारी दी जाएगी। बता दे गुरूवार को शिवसेना ने बिहार में चुनाव प्रचार करने वाले 22 नेताओं की सूची जारी की थी। जिसमें उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे, सुभाष देसाई, संजय राउत, अनिल देसाई, विनायक राउत, अरविंद सावंत, प्रियंका चतुर्वेदी, राहुल शेवाले और क्रुणाल का नाम शामिल हैं।

यह भी पढ़े: नाबालिग लड़की के साथ किशोर ने किया दुष्कर्म, पीड़िता ने खुद को लगाई आग
यह भी पढ़े: तीन तलाक के खिलाफ आवाज उठाने वाली ‘शायरा बानो’ BJP में शामिल

Loading...