सिब्बल ने कांग्रेस लीडरशिप पर उठाये सवाल, ‘जानकर भी अनजान बन रही पार्टी’

बिहार में महगठबंधन की हार के बाद कांग्रेस पार्टी में विरोधाभासी स्वर उठने लगे हैं। इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने अपनी ही पार्टी के नेतृत्व पर सवाल खड़े कर दिए हैं। साथ ही कहा कि लोग अब कांग्रेस को विकल्प नहीं मानते। उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर पिछले छह सालों में किसी भी तरह का आत्मविश्लेषण नहीं करने का आरोप लगाया है। सिब्बल ने कहा बिहार में हार के बाद भी पार्टी का कोई रुख सामने नहीं आया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने पार्टी की लीडरशिप पर सवाल खड़े करते हुए कहा है लगता है पार्टी मान रही है कि सबकुछ ठीक है। उन्होंने कहा बिहार में विकल्प आरजेडी ही थी। न सिर्फ बिहार में में बल्कि जहां-जहां देश में चुनाव-उपचुनाव हुए है, वहां लोग कांग्रेस को प्रभावी विकल्प नहीं मान रहे हैं।

सिब्बल ने कहा,गुजरात विधानसभा उपचुनाव की सभी सीटों पर कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा है। लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं मिली थी। वहीं, उत्तर प्रदेश की कुछ सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों को 2 फीसदी से भी कम वोट मिले। गुजरात में हमारे तीन उम्मीदवारों की जमानत तक जब्त हो गई। मेरे कुलीग जोकि सीडब्ल्यूसी का हिस्सा हैं, उन्होंने बयान दिया था कि मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस आत्मनिरीक्षण करेगी।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्हें और पार्टी को पता है कि कांग्रेस में क्या गलत है। संगठनात्मक रूप से, सब जानते हैं कि क्या गलत है। हमारे और पार्टी के पास सभी जवाब हैं। लेकिन पार्टी उन जवाबों को पहचानने की इच्छुक नहीं हैं। यदि वह उन जवाबों को नहीं ढूंढती है तो फिर ग्राफ में गिरावट जारी रहेगी।

यह भी पढ़े: भारत ने बाद अफगानिस्तान ने भी दिखाया PAK को आईना, आतंकवाद पर हुआ सख्त
यह भी पढ़े: कृष्णा अभिषेक नहीं करेंगे कपिल शर्मा के शो में परफॉर्म, मामा गोविंदा बने बड़ी वजह