टुकड़ों में सोना हो सकता है आपके सेहत के लिए नुकसानदायक

एक अच्छी नींद के बाद आप खुद तरोताजा महसूस करते हैं। इसके विपरीत अगर आपकी नींद बार बार टूटती है तो इसका बुरा असर सीधा आपकी सेहत पर पड़ता है। सभी के लिए एक बार में 7-8 घंटे सोना संभव नहीं है। पर इस बात का ध्यान रखना आवश्यक है क्यूंकि नींद की कमी से कई सारी बीमारियां भी होने लगती हैं।

अमेरिका के वैज्ञानिकों ने एक शोध में पाया कि टुकड़ों में सोने वाले लोगों की अपेक्षा देर रात के बाद शांति से सोने वाले लोगों का मूड अधिक फ्रेश था तथा टुकड़ों में सोने वाले लोग अगले दिन ज्यादा थके और सुस्त दिखते हैं | एक दूसरे शोध की मानें तो जो लोग दिन में 6 घंटे की नींद लेते हैं, उन्हें रात में सात घंटे रोज नींद लेने वालों की अपेक्षा बीमारी का खतरा चार गुना अधिक रहता है। कम नींद लेने से पढ़ने, सीखने व निर्णय लेने की क्षमता भी कमजोर हो जाती है।

टुकड़ों में नींद लेने से मेटाबॉलिज्म कमजोर हो जाता है और हॉर्मोन का संतुलन भी बिगड़ जाता है जिससे ज्यादा भूख लगती है। इसके कारण ही अच्छी नींद न लेने वाले लोगों को पेट भरने का आभास लेट से होता है।

बासी रोटी है हमारे सेहत के लिए लाभदायक, जानिए कैसे